भारत के मंजूरी के बिना सिद्धू नहीं जा सकते पाकिस्तान, इमरान ने भेजा है न्योता

विदेश मंत्रालय का कहना है कि पाकिस्तान ने जिन लोगों को करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह के लिए आमंत्रित किया है, उन्हें वहां जाने के लिए आधिकारिक स्तर पर मंजूरी लेनी होगी.

भारत के मंजूरी के बिना सिद्धू नहीं जा सकते पाकिस्तान, इमरान ने भेजा है न्योता

नई दिल्ली: विदेश मंत्रालय का कहना है कि पाकिस्तान ने जिन लोगों को करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह के लिए आमंत्रित किया है, उन्हें वहां जाने के लिए आधिकारिक स्तर पर मंजूरी लेनी होगी. विदेश मंत्रालय ने यह बयान पाकिस्तान द्वारा कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को करतारपुर गलियारा उद्घाटन समारोह के लिए भेजे गए निमंत्रण के संदर्भ में कही है. सिद्धू ने कहा है कि उन्हें पाकिस्तान का निमंत्रण मिला है और वह समारोह में शिरकत करेंगे.

आपको बता दें कि पाकिस्तान (Pakistan ने करतारपुर कॉरिडोर (Kartarpur corridor)  के उद्घाटन  समारोह के लिए कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को निमंत्रण भेजने का फैसला किया है. सीनेटर फैसल जावेद खान ने पीएम इमरान खान के निर्देश पर नवजोत सिंह सिद्धू के साथ टेलीफोन पर बातचीत की और उन्हें 9 नवंबर को पाकिस्तान बुलाया है. खबर है कि नवतोज सिंह सिद्धू ने पाकिस्तान का निमंत्रण स्वीकार भी कर लिया है.

बता दें कि भारत (India) और पाकिस्तान (Pakistan) ने आपसी सहमतसे करतारपुर कॉरिडोर (Kartarpur corridor) समझौते पर हस्ताक्षर कर दिए हैं. पाकिस्तान के पंजाब (Punjab) प्रांत के नरोवाल जिले में स्थित करतारपुर साहिब गुरुद्वारा डेरा बाबा नानक के पास की सीमा से महज 4.5 किलोमीटर की दूरी पर है.

यह गुरुद्वारा सिखों के लिए काफी पवित्र है, क्योंकि गुरु नानक देव ने अपने जीवन के 18 साल और अपना अंतिम समय भी यहीं बिताया था. सिख समुदाय के लोगों की भावनाओ को ध्यान में रखते हुए ही इस समझौते पर हस्ताक्षर किए गए हैं  हस्ताक्षर के वक़्त पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैज़ल करतारपुर जीरो लाइन पर मौज़ूद थे.

भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra modi) और इमरान खान (Imran khan) आने वाली 9 नवंबर को इस कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे. इस कॉरिडोर के खुलते ही पाकिस्तान को प्रति श्रद्धालु 20 डॉलर की कमाई होगी. हर श्रद्धालु को 20 डॉलर देना होगा. लिहाजा अब श्रद्धालुओं को वीजा कराने के लिए परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा, श्रद्धालुओं को करतारपुर साहिब जाने के लिए सिर्फ एक परमिट लेना होगा. बता दें कि इस कॉरिडोर का काम 31 अक्टूबर तक पूरा कर लिया जाएगा.

देखें यह वीडियो -