एयरस्‍ट्राइक पर फि‍र उठाए सिद्धू ने सवाल, बोले-48 सैटेलाइट हैं, लेकिन पेड़ और मकान में फर्क नहीं पता

कांग्रेस की ओर से नवजोत सिंह सि‍द्धू और कप‍िल स‍िब्‍बल पहले भी वायुसेना की इस एयरस्‍ट्राइक पर सवाल खड़े कर चुके हैं.

एयरस्‍ट्राइक पर फि‍र उठाए सिद्धू ने सवाल, बोले-48 सैटेलाइट हैं, लेकिन पेड़ और मकान में फर्क नहीं पता

नई दिल्‍ली: पाकिस्‍तान के बालाकोट में एयरफोर्स द्वारा की गई एयरस्‍ट्राइक पर विपक्षी पार्टी और उनके नेताओं द्वारा सवाल उठाने का सिलसिला थम नहीं रहा है. खासकर कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू बार बार ऐसे बयान दे रहे हैं. अब उन्‍होंने सरकार को घेरने के बहाने एयरस्‍ट्राइक पर निशाना साधा है. सिद्धू ने कहा है कि देश में 48 सेटेलाइट हैं. लेकिन सरकार को पेड़ और मकानों में अंतर पता नहीं है. इससे पहले भी वह इसी तरह के विवादित बयान दे चुके हैं. हालांकि कांग्रेस पार्टी की ओर से उनसे किसी तरह का स्‍पष्‍टीकरण नहीं लिया गया है.

सिद्धू ने एक ट्वीट करते हुए कहा, दुनिया की सबसे बड़ी डिफेंस डील की फाइल चोरी हो गई. इंटेलि‍जेंस फेल्‍युअर के कारण 40 जवान शहीद हो गए. 1708 आतंकी घटनाएं हुईं. 48 सैटेलाइट हैं, लेकिन सरकार को पेड़ और मकान की सरंचना के बीच फर्क  नहीं पता है.

एयर स्‍ट्राइक पर नवजोत सिंह सिद्धू ने पूछा, PoK में 300 आतंकी मारे या पेड़ गिराये?
इससे पहले भी सिद्धू एयरस्‍ट्राइक पर सवाल उठा चुके हैं. उन्‍होंने ट्वीट करके सवाल किया, 'पीओके में 300 आतंकी मारे गए, हां या ना? उन्‍होंने लिखा कि एयर स्‍ट्राइक का मकसद क्‍या था? क्‍या आपने आतंकी मारे या पेड़ गिराये? क्‍या यह चुनावी हथकंडा है?' उन्‍होंने कहा कि सेना का राजनीतिकरण करना बंद किया जाए.

वहीं कांग्रेस नेता कपिल सिब्‍बल ने भी सोमवार को इस मुद्दे पर सवाल उठाए. उन्‍होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अंतरराष्‍ट्रीय मीडिया की उन रिपोर्ट पर जवाब देना चाहिए, जिनमें यह कहा गया कि भारतीय वायुसेना की बालाकोट में की गई एयर स्‍ट्राइक में शायद ही कोई मारा गया. उन्‍होंने कहा, 'मैं पीएम मोदी से पूछना चाहता हूं कि क्‍या अंतरराष्‍ट्रीय मीडिया पाकिस्‍तान के समर्थन में है? जब भी अंतरराष्‍ट्रीय मीडिया पाकिस्‍तान के खिलाफ बोलती है तो आप खुश होते हैं. क्‍या जब वे सवाल पूछते हैं तो क्‍या वे पाकिस्‍तान का समर्थन कर रहे होते हैं?'