China के ड्रोन हमलों को रोकने के लिए Indian Navy खरीदेगी SMASH-2000 राइफलें
X

China के ड्रोन हमलों को रोकने के लिए Indian Navy खरीदेगी SMASH-2000 राइफलें

पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन (China) के बीच पिछले 8 महीने से चल रहे सैन्य तनाव के बीच भारतीय नौसेना भी लगातार चौकस है. लद्दाख में चीन की किसी गुस्ताखी का जवाब हिंद महासागर में देने के लिए वह ड्रोन को मार गिराने वाली  दुश्मन SMASH-2000 राइफलें भी खरीदने जा रही हैं.

China के ड्रोन हमलों को रोकने के लिए Indian Navy खरीदेगी SMASH-2000 राइफलें

नई दिल्ली: पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन (China) के बीच पिछले 8 महीने से चल रहे सैन्य तनाव के बीच भारतीय नौसेना भी लगातार चौकस है. लद्दाख में चीन की किसी गुस्ताखी का जवाब हिंद महासागर में देने के लिए वह लगातार अपनी सैन्य तैयारियां बढ़ा रही है. इसके लिए वह अब ड्रोन को मार गिराने वाली  दुश्मन SMASH-2000 राइफलें भी खरीदने जा रही हैं.

'चीन ने LaC पर यथास्थिति बदलने की कोशिश की'
नौसेना प्रमुख एडमिरल कर्मबीर सिंह (Admiral Karambir Singh) ने कहा कि कोरोना संकट के दौरान चीन ने पूर्वी लद्दाख में LaC पर यथास्थिति बदलने की कोशिश की है. इससे क्षेत्र के सुरक्षा हालातों में बदलाव आया है. उन्होंने कहा कि भारतीय नौसेना कोरोना और चीन की इस दोहरी चुनौती से हर हालात में निपटने के लिये पूरी तरह तैयार है. 

'जरूरत पड़ने पर LaC पर इस्तेमाल होंगे प्रिडेटर ड्रोन'
उन्होंने कहा कि देश की समुद्री सीमाओं को सुरक्षित रखने के लिए नौसेना लगातार अपनी शक्ति बढ़ा रही है. इसके लिए हाल में अमेरिका से प्रिडेटर ड्रोन (Predators Drone) किराये पर लिए गए हैं. ये ड्रोन भारतीय समुद्री क्षेत्र की निगरानी में इस्तेमाल किए जाएंगे. यदि थलसेना और वायुसेना जरूरत समझेंगी तो इन्हें LaC की निगरानी में भी इस्तेमाल किया जा सकता है. 

ये भी पढ़ें- EXCLUSIVE! जल्द आ रहा है 'महाविनाशक', दुश्मन की मिसाइल को आसमान में करेगा राख

दुश्मनों के ड्रोन से निपटने के लिए खरीदी जाएंगी SMASH-2000 राइफल
एडमिरल कर्मबीर सिंह (Admiral Karambir Singh) ने कहा कि नौसेना के लंबी दूरी के टोही विमान P8I और हेरोन ड्रोन का इस्तेमाल नॉर्दर्न बॉर्डर पर किया जा रहा है. वहां पर सुरक्षा हालात पूरी तरह नियंत्रण में हैं. यदि दुश्मन ने कोई दुस्साहस करने की कोशिश की तो उसे उसी के अंदाज में करारा सबक सिखाया जाएगा. उन्होंने कहा कि युद्ध में दुश्मनों के ड्रोन अटैक से निपटने के लिए नौसेना एंटी ड्रोन सिस्टम SMASH-2000 राइफलों की खरीद करने जा रही है. 

LIVE TV

Trending news