close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अशोक लवासा बोले, मतदान का स्तर बढ़ाने के नए तरीके अपनाने की जरूरत

लोकसभा चुनाव के अनुभव साझा करने के लिए सभी राज्यों के नोडल अफसरों के 11 और 12 जून को गुरुग्राम में आयोजित सम्मेलन में लवासा ने इस आम चुनाव में अब तक के सर्वाधिक मतदान और पुरुष एवं महिला मतदाताओं के मत प्रतिशत में अब तक के सबसे कम अंतर को उल्लेखनीय उपलब्धि बताया.

अशोक लवासा बोले, मतदान का स्तर बढ़ाने के नए तरीके अपनाने की जरूरत
उन्होंने कहा कि ऐसे इलाकों पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है, जहां लोकसभा चुनाव के दौरान कम मतदान हुआ. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: निर्वाचन आयुक्त अशोक लवासा ने कहा है कि अगले पांच साल में मतदाताओं के पंजीकरण और मतदान के स्तर में इजाफे के लिये प्रभावी और अनूठे तरीके अपनाने की जरूरत है. लवासा ने हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में मतदाता पंजीकरण और मतदान में बढ़ोतरी के लिये देशभर में तैनात आयोग के नोडल अफसरों के सम्मेलन में ऐसे इलाकों पर विशेष ध्यान देने को कहा जहां लोकसभा चुनाव के दौरान कम मतदान हुआ. 

लोकसभा चुनाव के अनुभव साझा करने के लिए सभी राज्यों के नोडल अफसरों के 11 और 12 जून को गुरुग्राम में आयोजित सम्मेलन में लवासा ने इस आम चुनाव में अब तक के सर्वाधिक मतदान और पुरुष एवं महिला मतदाताओं के मत प्रतिशत में अब तक के सबसे कम अंतर को उल्लेखनीय उपलब्धि बताया.

लवासा ने कहा कि इस स्थिति को अपेक्षाकृत बेहतर बनाने के लिये मतदान जागरुकता अभियान में ऐसे नये तरीके अपनाने होंगे जिससे मतदाता स्वयं पंजीकरण के लिये प्रेरित हों और मतदान में भी स्वत: स्फूर्त तरीके से हिस्सेदारी करें. 

इस दौर उपचुनाव आयुक्त उमेश सिन्हा ने 18 से 19 साल की उम्र के, पहली बार पंजीकृत मतदाताओं का मतदान स्तर बढ़ाने की जरूरत पर भी बल दिया.