close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पाक आर्मी और ISI की नई साजिश का खुलासा, घुसपैठ के लिए ड्रोन के जरिए देखे जा रहे हैं रास्ते...

सूत्रों ने यह भी जानकारी दी है कि आतंकी भारतीय सेना के कैंप और उस इलाके में मौजूद नदी नालों की जीपीएस लोकेशन भी तैयार करने में जुटे हैं और ये सारे गाईड सभी आतंकी तंजीम जैश और लश्कर से ताल्लुक़ रखते है.

पाक आर्मी और ISI की नई साजिश का खुलासा, घुसपैठ के लिए ड्रोन के जरिए देखे जा रहे हैं रास्ते...
फाइल फोटो

नई दिल्ली: पाकिस्तानी आर्मी और पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई की नई साज़िश का खुलासा हुआ है. खुफिया सूत्रों के हवाले से मिली बड़ी ख़बर के मुताबिक पाकिस्तान ड्रोन की मदद से भारतीय सीमा में आतंकी घुसपैठ की साज़िश करने में  लगा है. ऐसा बताया जा रहा है कि इन ड्रोन्स में लगे हाईटेक कैमरों से घुसपैठ के लिए नए-नए रास्ते देखे जा रहे हैं. इसके साथ ही आतंकियों को हाईटेक जीपीएस (GPS) और नेविगेशन करने वाले गैजेट्स से लैस किया जा रहा है. जानकारी मिली है कि ISI ने कश्मीर में मौजूद ओवर ग्राउंड वर्कर (OGW) को आतंकी घुसपैठ के नए रूट प्लान तैयार करने का फ़रमान जारी किया है.

कश्मीर सर्दियों में बर्फबारी के दौरान घुसपैठ के लिए गाइडों को रेकी करने का फरमान जारी है जिससे आतंकी घुसपैठ के नए रूट तलाशे जा सके. बता दें कि आतंकी की घुसपैठ के लिए गाइडों का ही सहारा लेते है. सूत्रों के मुताबिक जम्मू कश्मीर के गुरेज सैक्टर के सेना की फॉरवर्ड लोकेशन और उस तक पहुंचने के लिए रास्तों की जानकारी और उसके नख्शे बनाने का काम आतंकी गाइडों को सौंपा है. 

यह भी पढ़ेंः पंजाब: हुसैनीवाला बॉर्डर पर फिर देखे गए पाकिस्तानी ड्रोन, BSF ने की फायरिंग

सूत्रों ने यह भी जानकारी दी है कि आतंकी भारतीय सेना के कैंप और उस इलाके में मौजूद नदी नालों की जीपीएस लोकेशन भी तैयार करने में जुटे हैं और ये सारे गाईड सभी आतंकी तंजीम जैश और लश्कर से ताल्लुक़ रखते है.

भारतीय सुरक्षा एजेंसियां इस तरह के OGW और गाईड पर रख रही है नज़र 
जम्मू कश्मीर में बर्फबारी के दौरान भी घुसपैठ कराने की फिराक में आतंकी. ISI ने बाक़ायदा भारतीय इलाक़ों में उनके ओवर ग्राउंड वर्कर यानि वो लोग जो की घुसपैठ के बाद उन्हें रिसीव करेंगे और एलओसी के पास के गांव में जो लोग उन्हें ठिकाना देंगे उसकी भी जानकारी आतंकियों को दी है. ताकि घुसपैठ के नए रूट प्लान साझा कर सके.

यह भी पढ़ेंः ड्रोन्‍स की चुनौती से निपटने के लिए BSF ने एन्टी ड्रोन्स सिस्टम खरीदने का किया फैसला

खुफ़िया रिपोर्ट में ये भी साफ हुआ की गुरेज सेक्टर के दूसरी और पीओके में पाकिस्तान सेना की कुछ अतिरिक्त सेना का मूवमेंट भी हुआ है. ये इलाके है मिनिमार्ग ,कामरी ,डोमेल और गुल्टारी ..जहाँ पाकिस्तान की सेना के पोस्ट और आतंकी कैंप दोनो है. कुछ हथियार और गोलाबारूद गिलगित और चिलम चौकी इलाके से भेजे गए है