एनआईए ने अलकायदा संदिग्ध के खिलाफ दायर किया आरोप पत्र

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने बुधवार (14 मार्च) को एक अलकायदा संदिग्ध के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया.

एनआईए ने अलकायदा संदिग्ध के खिलाफ दायर किया आरोप पत्र
अलकायदा संदिग्ध समीउन रहमान को पिछले साल सितंबर में गिरफ्तार किया गया था. (फोटो साभारः India.com)

नई दिल्लीः राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने बुधवार (14 मार्च) को एक अलकायदा संदिग्ध के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया. वह भारत में आतंकवादी हमले करना चाहता था और म्यांमार में रोहिंग्याओं के मुद्दे के लिये उसकी लड़ने की योजना थी. विशेष एनआईए अदालत में समीउन रहमान उर्फ राजू भाई के खिलाफ गैर कानूनी गतिविधि निरोधक अधिनियम और अन्य कानूनों के तहत आरोप पत्र दायर किया गया. समीउन रहमान लंदन का रहने वाला है.

रहमान को पिछले साल सितंबर में दिल्ली पुलिस ने पूर्वी दिल्ली से गिरफ्तार किया गया था. गिरफ्तारी के समय उसके पास से एक पिस्तौल और चार कारतूस बरामद किये गए थे. उसने कथित तौर पर जांच अधिकारियों से कहा था कि वह प्रतिबंधित संगठन अलकायदा के लिये काम कर रहा था. इस मामले को बाद में राष्ट्रीय जांच एजेंसी को सौंप दी गई थी.

यह भी पढ़ेंः PNB घोटाला: ED ने नीरव मोदी, मेहुल चोकसी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने की मांग की

एनआईए ने एक वक्तव्य में कहा कि जांच के दौरान यह स्थापित हुआ कि वह बांग्लादेश से पश्चिम बंगाल में बीनापोल सीमा के रास्ते अवैध तरीके से भारत में घुसा और देश में कई ठिकानों पर रहा. एनआईए ने कहा कि वह दिल्ली में अलकायदा का आधार स्थापित करना चाहता था ताकि भारत में आतंकवादी गतिविधियां चलाई जा सकें और उसकी म्यांमार में रोहिंग्याओं के मुद्दे के लिये लड़ने की भी योजना थी.

यह भी पढ़ेंः पाक ने अधिकारियों के कथित उत्पीड़न पर भारत के डिप्टी हाई कमिश्नर को तलब किया