Zee Rozgar Samachar

पठानकोट हमला: एनआईए ने पंजाब पुलिस के एसपी और दोस्तों के घरों पर मारे छापे, ली तलाशी

पठानकोट आतंकी हमला मामले की जांच करने वाली एनआईए ने गुरुवार को पंजाब पुलिस के एसपी सलविंदर सिंह और उनके दोस्तों के घरों और कार्यालय समेत पांच स्थानों की तलाशी ली । यह छापेमारी दो जगहों पर की गई। सूत्रों ने बताया कि एनआईए ने सिंह के अमृतसर और गुरदासपुर स्थित आवासों की तलाशी ली ।

पठानकोट हमला: एनआईए ने पंजाब पुलिस के एसपी और दोस्तों के घरों पर मारे छापे, ली तलाशी

नई दिल्ली/पठानकोट : पठानकोट आतंकी हमला मामले की जांच करने वाली एनआईए ने गुरुवार को पंजाब पुलिस के एसपी सलविंदर सिंह और उनके दोस्तों के घरों और कार्यालय समेत पांच स्थानों की तलाशी ली । यह छापेमारी दो जगहों पर की गई। सूत्रों ने बताया कि एनआईए ने सिंह के अमृतसर और गुरदासपुर स्थित आवासों की तलाशी ली ।

 

एसपी के गुरदासपुर स्थित कार्यालय और उनके जौहरी मित्र राजेश वर्मा के आवास की भी तलाशी ली गई । आतंकवादियों ने कथित तौर पर वर्मा और एक रसोइए का अपहरण कर लिया था और वर्मा के गले को जख्मी कर दिया था। एनआईए के दल ने रसोइए मदन गोपाल, एसपी की महिला मित्र और जौहरी के आवास की भी तलाशी ली । दिल्ली में एनआईए द्वारा कई दिनों तक सिंह से पूछताछ के बाद यह घटनाक्रम सामने आई है। अमृतसर के पुलिस आयुक्त जतिन्दर सिंह अलख ने कहा कि एनआईए ने पुलिस से मदद मांगी थी जो उन्हें प्रदान की गई ।

 

एनआईए के अधिकारियों के साथ पुलिस दल ने अमृतसर में चौक जय सिंह स्थित सलविंदर सिंह के आवास की भी तलाशी ली । एनआईए ने पठानकोट वायु सेना स्टेशन पर हमला मामले की जांच के सिलसिले में कल सलविंदर सिंह का झूठ पकड़ने वाली मशीन से जांच भी कराया था। सिंह को आचार व्यवहार संबंधी परीक्षण से भी गुजरना होगा ।

सिंह अभी पंजाब सशस्त्र पुलिस की 75वी कमान में सहायक कमांडेंट हैं सूत्रों ने बताया कि सिंह को जल्द ही वैज्ञानिकों के एक दल के समक्ष पेश किये जाने की संभावना है। पैनल में आचार व्यवहार का विश्लेषण करने वाले और मनोविश्लेषक शामिल होंगे जो सिंह के व्यक्तित्व के बारे में वैज्ञानिक विश्लेषण पेश करेंगे।

 

 

एनआईए सिंह से पूछताछ कर उस घटनाक्रम का विश्लेषण कर रही है कि 31 दिसंबर और 1 जनवरी की दरमियानी रात को कथित अपहरण के बाद क्या क्या घटा जिस अपहरण के बारे में सिंह ने बताया है। सिंह उस समय घेरे में आ गए थे जब उन्होंने कहा था कि वह और रसोइए को अपहरण के बाद छोड़ दिया गया जबकि उनके एक मित्र राजेश वर्मा को आतंकवादियों ने गले पर जख्मी कर खून बहता छोड़ दिया। सिंह ने यह भी बयान दिया था कि वह अक्सर दरगाह जाते हैं जिसे एनआईए ने दरगहा की देखरेख करने वाले सामराज से पूछताछ के बाद कथित तौर पर गलत पाया ।

(एजेंसी इनपुट के साथ)

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.