निर्भया केस: डेथ वारंट पर रोक की मांग को लेकर एक दोषी पहुंचा HC, अहम सुनवाई आज

मंगलवार (14 जनवरी) को सुप्रीम कोर्ट ने निर्भया के दो दोषी विनय शर्मा और मुकेश की क्यूरेटिव पिटिशन खारिज कर दी थी.

निर्भया केस: डेथ वारंट पर रोक की मांग को लेकर एक दोषी पहुंचा HC, अहम सुनवाई आज
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: निर्भया केस के एक दोषी मुकेश की याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट बुधवार को सुनवाई करेगा.दरअसल, मुकेश ने दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर कर डेथ वारंट पर रोक लगाने की मांग की है.बुधवार को जस्टिस मनमोहन और जस्टिस संगीता ढींगरा सहगल की पीठ निर्भया के दोषी मुकेश की याचिका पर सुनवाई करेगी.याचिका में मुकेश ने कहा कि उसने राष्ट्रपति के समक्ष दया याचिका दायर की है, ऐसे में जब तक दया याचिका का निपटारा नहीं हो जाता तब तक उसकी फांसी पर कोर्ट रोक लगाए.

अगर राष्ट्रपति दया याचिका को खारिज भी करते है तो भी उसे राष्ट्रपति के फैसले को चुनौती देने के लिए समय दिया जाए.मुकेश ने अपनी याचिका में ये भी कहा है कि अगर राष्ट्रपति उसकी दया याचिका को खारिज करते है तो उसे वो हाईकोर्ट फिर सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देगा.

आपको बता दें कि मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने निर्भया के दो दोषी विनय शर्मा और मुकेश की क्यूरेटिव पिटिशन खारिज कर दी थी.इस मामले में चार दोषी हैं, जिनमें से दो हत्यारों ने ही अभी तक क्यूरेटिव याचिका दायर की थी, बाकि दो दोषी बाद में क्यूरेटिव याचिका दायर कर सकते हैं, ये याचिका दायर करने में देरी की वजह फाँसी की सजा को और कुछ दिन टालने की कोशिश होगी.क्यूरेटिव याचिका के बाद दोषियों के पास राष्ट्रपति के यहाँ दया याचिका दायर करने का क़ानूनी अधिकार बचा है.

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने एक दोषी अक्षय की पुनर्विचार याचिका 18 दिसंबर को ख़ारिज की थी, अन्य तीन दोषियों की पुनर्विचार याचिका सुप्रीम कोर्ट पहले ख़ारिज कर चुका था, जिसके बाद सात जनवरी को दिल्ली पटियाला हाउस की ट्रायल कोर्ट ने चारों दोषियों को 22 जनवरी को फाँसी पर लटकाने के लिए डेथ वांरट जारी कर दिया था.यह वारंट निरभया की माँ की अर्ज़ी पर जारी हुआ था, अर्ज़ी में ट्रायल कोर्ट से माँग की गई थी कि सात जनवरी को दोषियों की कोई भी याचिका सुप्रीम कोर्ट में या राष्ट्रपति के पास लंबित नहीं है इसलिए ट्रायल कोर्ट फाँसी की सजा को तामील में लाने के लिए कार्रवाई करें.