VIDEO: नितिन गडकरी ने की नाना पाटेकर की तारीफ, बोले- राजनीति छोड़ने का विकल्प मिले तो मैं तैयार हूं

 केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी और फिल्म अभिनेता नाना पाटेकर ने ग्रामीण भारत के विकास के लिए एक मंच पर आकर बात की.

VIDEO: नितिन गडकरी ने की नाना पाटेकर की तारीफ, बोले- राजनीति छोड़ने का विकल्प मिले तो मैं तैयार हूं
गडकरी और नाना ने साझा किया मंच

नागपुर: केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी और फिल्म अभिनेता नाना पाटेकर ने ग्रामीण भारत के विकास के लिए एक मंच पर आकर बात की. गडकरी ने इस बातचीत का वीडियो सोशल मीडिया पर भी शेयर किया है. ग्राम विकास संस्था के 'एक पहल अभिनव गांव की ओर' कार्यक्रम के तहत ये बातचीत हुई. 

गडकरी ने कहा, 'मैं नाना के अभिनय, विचारों और स्पष्टता से बहुत प्रभावित था. मैं 70 से 80 फीसदी काम सामाजिक करता हूं, अगर मुझे राजनीति छोड़ने का विकल्प मिले तो मैं छोड़ने के लिए तैयार हूं.'

एक सवाल के जवाब में नाना पाटेकर ने भी अपनी पृष्ठभूमि के बारे में बताया. उन्होंने कहा, 'हम गांव से आए हैं. जमीन पर बैठकर पढ़े, अंग्रेजी की मुझे ज्यादा समझ नहीं है इसलिए हॉलीवुड में काम नहीं कर पाता.' नाना ने कहा, 'अगर हम अपनी जरूरतों को कम करें तो एक निवाला किसी और को भी दे सकते हैं.'

वहीं गडकरी ने बायोटेक्नालॉजी की दिशा में किए गए कामों को गिनाया. उन्होंने कहा, ' 6 साल में 6 जिलों को डीजल मुक्त करने वाला हूं. मैं अपने विजन पर काम कर रहा हूं, जिसके लिए मुझे सरकार की भी जरूरत नहीं है.'

गडकरी ने कहा कि जब तक किसान के हाथ में पैसा नहीं आएगा तब तक विकास नहीं होगा. मैं जब पंजाब और हरियाणा जाता हूं तो वहां किसानों के पक्के मकान हैं और वह ट्रैक्टर पर कोका-कोला पीते हैं और विदर्भ में किसान आधा कप चाय पीता है. क्योंकि यहां विकास नहीं है.

ये भी देखें- 

गडकरी ने कहा, 'सरकार के प्रयासों से करोड़ों रुपए का कर्जा माफ करने के बाद और कीमतें बढ़ाने के बाद भी किसान समृद्ध नहीं हुए. हमारे यहां एक एकड़ में 5 क्विंटल सोयाबीन होता है, अमेरिका में 25 क्विंटल होता है.'