close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गंगा संरक्षण के लिए 254वीं परियोजना मंजूर, 2019 में होगा बड़ा बदलाव : नितिन गडकरी

नितिन गडकरी ने उल्लेख किया कि विशेषज्ञों ने अनुशंसा की थी कि नदी के लिए ‘अविरलता’ एक महत्वपूर्ण मुद्दा है जिसके बाद सरकार इस संबंध में एक अधिसूचना लेकर आई.

गंगा संरक्षण के लिए 254वीं परियोजना मंजूर, 2019 में होगा बड़ा बदलाव : नितिन गडकरी
केंद्रीय मंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: केन्द्रीय जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी ने बुधवार को कहा कि सरकार ने गंगा नदी संरक्षण के लिए 254 परियोजनाओं को मंजूरी दी है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सबसे पहले गंगा नदी को साफ करने और उसके बाद इसके अविरल प्रवाह पर ध्यान केन्द्रित करने की सलाह दी थी.

नदी की सफाई के लिए सरकार के प्रयासों की आलोचना को नजरअंदाज करते हुए उन्होंने कहा कि नमामि गंगे मिशन के तहत कई परियोजनाएं शुरू की गई है और 2019 के बाद जमीनी तौर पर महत्वपूर्ण बदलाव देखने को मिलेगा. 

क्या बोले नितिन गडकरी?
तीसरे ‘इंडिया वाटर इंपैक्ट सम्मिट 2018’ में यहां गडकरी ने कहा,‘प्रधानमंत्री ने सलाह दी कि पहले आप गंगा को साफ करिए और इसके बाद इसकी अविरल धारा पर बात करेंगे.’ मंत्री ने उल्लेख किया कि विशेषज्ञों ने अनुशंसा की थी कि नदी के लिए ‘अविरलता’ एक महत्वपूर्ण मुद्दा है जिसके बाद सरकार इस संबंध में एक अधिसूचना लेकर आई.

अक्टूबर में केन्द्र ने विभिन्न स्थानों पर गंगा के बहाव को बनाए रखने के लिए गंगा नदी के न्यूनतम पर्यावरणीय प्रवाह को अधिसूचित किया था. गडकरी ने कहा,‘मैं आश्वस्त हूं कि अगले साल, मार्च, अप्रैल, मई और जून में आपको ‘अविरल’ गंगा देखने को मिलेगी.’

गंगा कार्यकर्ता जी डी अग्रवाल के निधन के बाद एनडीए की अगुवाई वाली केन्द्र सरकार को आलोचना का सामना करना पड़ा था. अग्रवाल ने नदी की सफाई और इसे ‘अविरल’ बनाने के लिए अभियान चलाया था.