दाउद इब्राहिम के साथी की प्रॉपर्टी को नहीं मिला कोई खरीददार, असफल रही नीलामी

अधिकारियों का दावा है कि, मुंबई के सांताक्रूज इलाके में स्थित इकबाल मिर्ची के दो फ्लैट्स की नीलामी में खरीददारों की दिलचस्पी इसलिए कम रही क्योंकि शायद खरीदारों को ऐसा लगा कि इस नीलामी के लिए जो रिजर्व प्राइस रखा गया था वह मार्केट प्राइस से ज्यादा है.

दाउद इब्राहिम के साथी की प्रॉपर्टी को नहीं मिला कोई खरीददार, असफल रही नीलामी

मुंबई: अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) के सहयोगी इकबाल मिर्ची (Iqbal Mirchi) की प्रॉपर्टी को खरीदने में किसी ने भी दिलचस्पी नहीं दिखाई. मंगलवार सुबह SAFEMA के नरीमन प्वॉइंट दफ्तर में नीलामी (Auction) की शुरुआत होनी थी लेकिन इकबाल मिर्ची की प्रॉपर्टी को खरीदने के लिए किसी ने भी नीलामी में हिस्सा नहीं लिया.

अधिकारियों का दावा है कि, मुंबई के सांताक्रूज इलाके में स्थित इकबाल मिर्ची के दो फ्लैट्स की नीलामी में खरीददारों की दिलचस्पी इसलिए कम रही क्योंकि शायद खरीदारों को ऐसा लगा कि इस नीलामी के लिए जो रिजर्व प्राइस रखा गया था वह मार्केट प्राइस से ज्यादा है. बहरहाल इस प्रॉपर्टी के रिजर्व प्राइस पर दोबारा विचार किया जाएगा और कुछ दिनों बाद नीलामी की एक और कोशिश की जाएगी.

गौरतलब है कि इकबाल मिर्ची और उसके परिवार के सदस्यों से जुड़ी दो संपत्तियों की नीलामी स्मग्लर्स एंड फॉरेन एक्सचेंज मैनिपुलेटर्स एक्ट (SAFEMA) के तहत की जा रही है. ये प्रॉपर्टी सांताक्रूज वेस्ट के मिल्टन अपार्टमेंट्स के फ्लैट्स नंबर 501 और 502 हैं. 1245 स्क्वेयर फीट वाले इन दोनों फ्लैट्स की नीलामी का रिजर्व प्राइज 3.45 करोड़ रुपये रखा गया था.

मेमन इकबाल उर्फ इकबाल मिर्ची दर्जनों मामलों में वांटेड था और इंटरपोल ने मिर्ची के खिलाफ 1994 में रेड कार्नर नोटिस भी जारी किया था. अंडरवर्ल्ड की दुनिया में इकबाल मिर्ची नाम से कुख्यात इस गैंगस्टर के खिलाफ अलग-अलग पुलिस थानों में हत्या, हत्या का प्रयास, उगाही, ड्रग तस्करी जैसे कई गंभीर मामले दर्ज थे. 1993 बम धमाकों के बाद इकबाल मिर्ची पहले दुबई और फिर लंदन शिफ्ट हो गया जहां साल 2013 में उसकी मौत हो गई.

लाइव वीडियो देखें

बहरहाल प्रवर्तन निदेशालय इकबाल मिर्ची से जुड़े अलग-अलग मामलों की जांच में जुटा है. 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.