भाजपा में किसी ने कानून का उल्लंघन नहीं किया : वेंकैया नायडू

केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने आईपीएल के पूर्व प्रमुख ललित मोदी से जुड़े विवाद में विपक्षी दलों पर अपमानजनक और गलत सूचना अभियान चलाने का आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र और राजस्थान की भाजपा सरकार में से किसी ने भी इस मामले में किसी नियम का उल्लंघन नहीं किया है, ना ही कोई भ्रष्टाचार में संलिप्त रहा है।

भाजपा में किसी ने कानून का उल्लंघन नहीं किया : वेंकैया नायडू

वाशिंगटन : केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने आईपीएल के पूर्व प्रमुख ललित मोदी से जुड़े विवाद में विपक्षी दलों पर अपमानजनक और गलत सूचना अभियान चलाने का आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र और राजस्थान की भाजपा सरकार में से किसी ने भी इस मामले में किसी नियम का उल्लंघन नहीं किया है, ना ही कोई भ्रष्टाचार में संलिप्त रहा है।

फिलहाल, अमेरिका की पांच दिवसीय गैर आधिकारिक यात्रा पर आए शहरी विकास मंत्री केंद्र और राजस्थान में भाजपा नेताओं के खिलाफ ललित मोदी विवाद को लेकर लगे आरोपों के बारे में सवालों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा, ‘भ्रष्टाचार में कोई भी (भाजपा में) संलिप्त नहीं है। किसी कानून का उल्लंघन नहीं हुआ है। इस सरकार में किसी ने भी कोई अनैतिक गतिविधि नहीं की है। यह विपक्षी पार्टियों के अपमानजनक अभियान के तहत की जा रही कोशिश है क्योंकि हमने एक ईमानदार और पारदर्शी प्रशासन दिया है।’ 

नायडू ने संवाददाताओं से कहा, ‘वे परेशान हैं इसलिए वे इस गलत सूचना के अभियान में जुटे हुए हैं।’ नायडू ने वाशिंगटन डीसी के उपनगरीय इलाके वर्जीनिया में 'ओवरसीज फ्रेंड्स ऑफ बीजेपी' द्वारा आयोजित अभिनंदन समारोह के बाद यह कहा। उन्होंने कहा, ‘केंद्र या किसी राज्य सरकार (भाजपा शासित) के खिलाफ भ्रष्टाचार का कोई आरोप नहीं है। इस सरकार ने सर्वाधिक पारदर्शी सरकार दी है..सरकार में किसी पर भी भ्रष्टाचार का कोई आरोप नहीं है।’

नायडू ने कहा, ‘मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि सच्चाई कायम रहेगी और विपक्ष की कोशिशें नाकाम होंगी। इस विवाद के मद्देनजर संसद का कामकाज प्रभावित नहीं होगा। संसद को चलने देना चाहिए।’ पिछले एक साल में संसद का कामकाज बेहतर हुआ है।

उन्होंने कहा, ‘विवादों पर चर्चा की जा सकती है। विपक्ष संसद में सरकार से सवाल कर सकता है और यदि कोई नाकामी है तो उसका जिक्र कर सकता है। साथ ही, सरकार लोगों के समक्ष सही तस्वीर पेश करेगी।’ नायडू ने कहा, 'संसद निश्चित रूप से महत्वपूर्ण विधेयकों को मंजूरी प्रदान करेगी। यह मेरा विश्वास है। व्यवधान डालना समाधान नहीं है।’ 

इससे पहले ग्रेटर वाशिंगटन एरिया में भारतीय मूल के अमेरिकी लोगों की एक विशाल सभा को संबोधित करते हुए नायडू ने आरोप लगाया कि भ्रष्टाचार पर इसके रूख को लेकर समाज के एक निहित स्वार्थी तबके ने नरेन्द्र मोदी सरकार के खिलाफ अभियान छेड़ा है और क्योंकि यह एक भ्रष्टाचारमुक्त पारदर्शी सरकार मुहैया कर रहा है।

नायडू ने कहा, ‘प्रधानमंत्री भ्रष्ट लोगों के लिए बुरे स्वप्न की तरह हैं।’ भ्रष्टाचार से निपटना उनकी सरकार की शीर्ष प्राथमिकता है। इससे पहले दिन में नायडू ने यूएस इंडिया बिजनेस काउंसिल द्वारा आयोजित एक उद्योग गोलमेज सम्मेलन को संबोधित किया।

मंत्री ने अपनी टिप्पणियों में पिछले एक साल में मोदी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र किया और निवेशकों से कहा कि भारत की नयी सरकार ने दुनिया भर से निवेशकों को आकर्षित करने के लिए कदम उठाए हैं।