पानसरे, दाभोलकर, कलबुर्गी की हत्याओं में कोई संबंध नहीं: सरकार

सरकार ने बुधवार को कहा कि ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं है जिससे तर्कवादियों गोविंद पानसरे, नरेंद्र दाभोलकर और एमएम कलबुर्गी की हाल ही में हुई हत्याओं के बीच कोई संबंध का पता चलता हो। गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजु ने बुधवार को राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी।

पानसरे, दाभोलकर, कलबुर्गी की हत्याओं में कोई संबंध नहीं: सरकार

नई दिल्ली : सरकार ने बुधवार को कहा कि ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं है जिससे तर्कवादियों गोविंद पानसरे, नरेंद्र दाभोलकर और एमएम कलबुर्गी की हाल ही में हुई हत्याओं के बीच कोई संबंध का पता चलता हो। गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजु ने बुधवार को राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि उपलब्ध सूचना के अनुसार, इस आशय की कोई रिपोर्ट नहीं है जो तर्कवादियों गोविंद पानसरे, नरेंद्र दाभोलकर और एमएम कलबुर्गी की हाल ही में हुई हत्याओं के बीच कोई संबंध दर्शाती हो। रिजिजु ने बताया कि वर्तमान में दक्षिण पंथी संगठन सनातन संस्था पर प्रतिबंध लगाने का कोई प्रस्ताव नहीं है। सनातन संस्था हाल ही में तब खबरों में आई थी जब उसके एक सदस्य को पानसरे की हत्या के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया था। सनातन संस्था ने हालांकि माना था कि आरोपी उसका सदस्य है लेकिन पानसरे की हत्या में संस्था की कोई भूमिका होने से उसने इनकार किया था।

रिजिजु ने बताया कि देश में शांति एवं सांप्रदायिक सद्भाव बनाए रखने के उद्देश्य को प्रभावित करने वाले सभी संगठनों की गतिविधियों पर कानून एजेंसियां लगातार नजर रखे हुए हैं और आवश्यकता के अनुरुप अपेक्षित कार्रवाई की जाती है। वामपंथी राजनीतिज्ञ और लेखक पानसरे की महाराष्ट्र के कोल्हापुर में 16 फरवरी 2015 को गोली मार दी गई थी। घायल पानसरे की पांच दिन बाद मौत हो गई थी। तर्कवादी एवं लेखक दाभोलकर की 20 अगस्त 2013 को पुणे में हत्या कर दी गई थी। कन्नड़ लेखक एमएम कलबुर्गी को 30 अगस्त 2015 को कर्नाटक के धारवाड़ जिले में गोली मार दी गई थी जिससे उनकी मौत हो गई थी।

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.