close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पोंजी घोटाले में अभी तक सुप्रियो की कोई भूमिका सामने नहीं आई है : CBI सूत्र

पोंजी घोटालों की सीबीआई जांच में अभी तक ऐसा कोई तथ्य सामने नहीं आया है जो इस मामले में केन्द्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो की संलिप्तता दिखा सके। सीबीआई के सूत्रों ने इसकी जानकारी दी। इसी सिलसिले में गिरफ्तार तृणमूल कांग्रेस सांसद तापस पाल द्वारा कुछ ही दिन पहले आरोप लगाया गया था कि भाजपा नेता भी पोंजी फर्म से जुड़े हुए थे।

पोंजी घोटाले में अभी तक सुप्रियो की कोई भूमिका सामने नहीं आई है : CBI सूत्र

नई दिल्ली : पोंजी घोटालों की सीबीआई जांच में अभी तक ऐसा कोई तथ्य सामने नहीं आया है जो इस मामले में केन्द्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो की संलिप्तता दिखा सके। सीबीआई के सूत्रों ने इसकी जानकारी दी। इसी सिलसिले में गिरफ्तार तृणमूल कांग्रेस सांसद तापस पाल द्वारा कुछ ही दिन पहले आरोप लगाया गया था कि भाजपा नेता भी पोंजी फर्म से जुड़े हुए थे।

सूत्रों ने कहा कि एजेंसी घोटाले की विस्तृत जांच कर रही है जिसमें पोंजी कंपनियों ने लाखों निवेशकों को उनकी जमा राशि पर उच्च ब्याज दर देने का वादा करके उनके साथ कथित रूप से धोखाधड़ी की है। उन्होंने कहा कि एजेंसी को अभी तक सुप्रियो को इससे जोड़ने वाला कोई साक्ष्य नहीं मिला है। रोज वैली चिटफंड घोटाला मामले में कथित भूमिका के लिए सीबीआई द्वारा गिरफ्तार तापस पाल ने कुछ दिन पहले ही आरोप लगाया था कि केन्द्रीय भारी उद्योग एवं सार्वजनिक उपक्रम राज्यमंत्री बाबुल सुप्रियो भी घोटाले में शामिल थे।

सीबीआई द्वारा तीन दिन की हिरासत में पूछताछ के लिए ले जाए जा रहे पाल ने संवाददाताओं से कहा, ‘मैं निर्दोष हूं। मैं किसी भी तरह से इस घोटाले में शामिल नहीं हूं और सच्चाई जल्दी सामने आएगी। मैंने बाबुल सुप्रियो और कुछ अन्य लोगों के नाम लिए हैं। सच्चाई सामने आएगी।’ तृणमूल कांग्रेस के सांसद को कोलकाता में 30 दिसंबर को गिरफ्तार किया गया। वहां से उन्हें भुवनेश्वर ले जाया गया जहां विशेष अदालत रोज वैली घोटाला मामले की सुनवायी कर रही है।