close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नोएडा गोलीकांड को लेकर NHRC का यूपी के मुख्य सचिव और DGP को NOTICE

नोएडा पुलिस ने हालांकि मुठभेड की कोई सूचना होने से इंकार किया है. 

नोएडा गोलीकांड को लेकर NHRC का यूपी के मुख्य सचिव और DGP को  NOTICE
एनएचआरसी की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया कि आयोग ने महसूस किया कि उत्तर प्रदेश में पुलिसकर्मी अपने अधिकारों का दुरूपयोग कर रहे हैं.(फाइल फोटो)

लखनऊ: राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग एनएचआरसी ने उत्तर प्रदेश के नोएडा में 25 वर्षीय युवक को एक सब इंस्पेक्टर द्वारा कथित मुठभेड़ में गोली मारने की घटना को लेकर मीडिया में आई खबरों पर स्वत: संज्ञान लेते हुए राज्य के मुख्य सचिव एवं पुलिस महानिदेशक डीजीपी को नोटिस जारी किया है. नोएडा पुलिस ने हालांकि मुठभेड की कोई सूचना होने से इंकार किया है . एनएचआरसी की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया कि आयोग ने महसूस किया कि उत्तर प्रदेश में पुलिसकर्मी अपने अधिकारों का दुरूपयोग कर रहे हैं.

पुलिस बल जनता की सुरक्षा के लिए है
विज्ञप्ति में कहा गया कि पुलिस बल जनता की सुरक्षा के लिए है, लेकिन नोएडा की घटना समाज में गलत संदेश देगी.आयोग ने कहा कि भय का माहौल पैदा करना अपराध से निपटने का सही तरीका नहीं है . नोएडा मामले में घायल व्यक्ति अपराधी नहीं है .  वह अपने दोस्तों के साथ कार में जा रहा था. इस प्रकरण में आयोग ने उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव एवं पुलिस महानिदेशक को नोटिस जारी कर उचित कार्रवाई के लिए कहा है. 

यह भी पढ़ें- नोएडा एनकाउंटर: परिवार का आरोप, प्रमोशन के लिए दरोगा ने मारी थी गोली; हत्या की कोशिश का मामला दर्ज

आयोग ने दोनों से छह सप्ताह में रिपोर्ट मांगी है
आयोग ने दोनों से छह सप्ताह में रिपोर्ट मांगी है. मीडिया खबरों में आज प्रत्यक्षदर्शियों के हवाले से बताया गया कि पुलिस सब इंस्पेक्टर ने एक जिम ट्रेनर को गोली मार दी थी. सब इंस्पेक्टर एवं एक अन्य पुलिसकर्मी खून से सने पीडित को नोएडा सेक्टर—62 स्थित फोर्टिस अस्पताल 90 मिनट बाद लेकर पहुंचे जबकि घटनास्थल से अस्पताल मात्र सात किलोमीटर दूर है.

यह भी पढ़ें- UP: OLX पर मोबाइल बेचने के बहाने लूटपाट करते थे बदमाश, पुलिस एनकाउंटर में घायल

विज्ञप्ति के अनुसार आरोपी सब इंस्पेक्टर सादी वर्दी में था. पुलिस टीम ने पीडित और उसके दोस्तों को बिना किसी वजह पीटना शुरू कर दिया. सब इंस्पेक्टर ने पीडित से कार की स्टीयरिंग छोडने के लिए कहा और खुद ही उसकी कार चलाने लगा. पीडित ने विरोध किया तो बौखलाये सब इंस्पेक्टर ने अपनी रिवाल्वर से उस पर गोली चला दी. 

इनपुट भाषाा से भी