close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अब सामने आया CRPF जवान का वीडियो, बयां किया दर्द- 'आर्मी जैसी फैसिलिटी हमें क्यों नहीं'

बीएसएफ (बोर्डर सेक्यूरिटी फोर्सेज) के जवान तेज बहादुर का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद अब एक दूसरा वीडियो सामने आया है। यह वीडियो सीआरपीएफ  (केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल) के जवान जीत सिंह ने अक्टूबर 2016 में अपलोड किया है जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गुजारिश की है कि पैरामिलिट्री फोर्सेज के जवानों को भी वे सारी सुविधाएं मिलनी चाहिए जो सेना के जवानों को मिलती हैं।

अब सामने आया CRPF जवान का वीडियो, बयां किया दर्द- 'आर्मी जैसी फैसिलिटी हमें क्यों नहीं'

नई दिल्ली: बीएसएफ (बोर्डर सेक्यूरिटी फोर्सेज) के जवान तेज बहादुर का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद अब एक दूसरा वीडियो सामने आया है। यह वीडियो सीआरपीएफ  (केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल) के जवान जीत सिंह ने अक्टूबर 2016 में अपलोड किया है जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गुजारिश की है कि पैरामिलिट्री फोर्सेज के जवानों को भी वे सारी सुविधाएं मिलनी चाहिए जो सेना के जवानों को मिलती हैं।

उसने वीडियो में रिकार्ड किए गए मैसेज में कहा है कि जब इनके भी जवान सरहद पर गोली खाते है देश के भीतर आंतकवादियों और माओवादियों से लड़ते हैं तो फिर सुविधाओं के मामले में उनके साथ भेदभाव क्यों किया जाता है। गौर हो कि वर्ष 2004 के बाद से पैरा मिलिट्री फोर्सेज के जवानों को पेंशन नहीं दी जाती और न ही आतंकवादी कार्रवाई में मरने के बाद उन्हें शहीद का दर्जा दिया जाता है ।

WATCH VIDEO

जीत सिंह ने कहा है 'देश के पीएम मोदी तक एक संदेश पहुंचाना चाहता हूं। हम लोग सीआरपीएफ वाले इस देश में कौन-सी ड्यूटी है, जो नहीं करते। लोकसभा चुनाव से लेकर पंचायत चुनाव तक और मंदिर से लेकर मस्जिद तक ड्यूटी करते हैं। भारतीय सेना और अर्द्धसैनिक बलों को मिलने वाली सुविधाओं में इतना अंतर है कि आप सुनेंगे तो हैरान रह जाएंगे। सेना को पेंशन मिलती है, हमारी पेंशन भी बंद है। 20 साल बाद नौकरी छोड़कर जाएंगे तो क्या करेंगे। एक्स सर्विस मैन का कोटा, कैंटीन और मेडिकल की सुविधा भी नहीं है। सेना को मिल रही सुविधाओं से हमें ऐतराज नहीं है, उन्हें मिलनी चाहिए। लेकिन हमारे साथ भेदभाव क्यों हो रहा? हमारे दुख-दर्द को समझने वाला कोई नहीं है दोस्तो! क्या हम लोग इसके हकदार नहीं हैं?'

यह वीडियो 16 अक्टूबर 2016 को अपलोड किया गया है। ज़ी न्यूज़ इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।