खुशखबरी! अब ट्रेन लेट होने पर यात्रियों को वापस मिलेगा पूरा किराया

भारतीय रेलवे ने दिवाली से पहले अपने यात्रियों को एक बड़ा तोहफा दिया है. ट्रेन तीन घंटे लेट होने की स्थिति में अब ऑनलाइन टिकट करवाने वालों को भी पूरा किराया वापस मिलेगा.

खुशखबरी! अब ट्रेन लेट होने पर यात्रियों को वापस मिलेगा पूरा किराया
ट्रेन 3 घंटे लेट होने पर पूरा पैसा मिलेगा वापिस (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: भारतीय रेलवे ने दिवाली से पहले अपने यात्रियों को एक बड़ा तोहफा दिया है. ट्रेन तीन घंटे लेट होने की स्थिति में अब ऑनलाइन टिकट करवाने वालों को भी पूरा किराया वापस मिलेगा. पहले ये सुविधा सिर्फ काउंटर से टिकट करवाने वालों के लिए ही उपलब्ध थी. माना जा रहा है कि रेलवे ने टिकट की ऑनलाइन बुकिंग करवाने के लिए नियमों में बदलाव कर यात्रियों को ये नई सुविधा दी है. इतना ही नहीं ट्रेन 3 घंटे लेट होने और उसके बाद टिकट कैंसिल करवाते ही ई-टिकट की आधी राशि आपके खाते में तुरंत आ जाएगी.

जानकारी के मुताबिक, टिकट के बाकी बाकी 50% की राशि यात्रियों को यात्रा की जांच रिपोर्ट आने के बाद मिल सकेगी. ई-टिकट का पैसा वापस पाने के लिए आईआरसीटीसी में उपलब्ध टीडीआर के ऑप्शन को सिलेक्ट करना होगा.

ये भी पढ़ें- IRCTC से रेल टिकट बुक करने वाले ध्यान दें, मार्च 2018 तक के लिए है यह सुविधा

इस ऑप्शन में आपको अपने टिकट का पीएनआर नंबर और यात्रा संबंधी अन्य जानकारी भरनी होगी. एक बार जानकारी सेव हो जाने पर सबमिट कर दें. आईआरसीटीसी पर आप टीडीआर का स्टेटस चैक भी कर सकते हैं. खाते में राशि आने पर आपको बैंक का अलर्ट मोबाइल पर मिल जाएगा. वहीं नेट बैंकिंग के जरिए आप ई-स्टेटमेंट भी इसकी डीटेल मिल जाएगी.

ये भी पढ़ें- इस बैंक में बचत खाते पर मिल रहा है 7.25 फीसदी ब्याज और 1 लाख का मुफ्त बीमा

6 बैंक के कार्ड से नहीं होंगे ई-टिकट बुक ?
आईआरसीटीसी ने बयान दिया है कि उन्होंने ऑनलाइन टिकट बुकिंग के लिए किसी भी बैंक के कार्ड पर बैन नहीं लगाया है. गौरतलब है कि मीडिया में ऐसी खबर आई थी कि आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर अब एसबीआई और आईसीआईसीआई समेत 6 अन्य बैंकों के कार्ड से टिकट बुक नहीं किए जा सकेंगे. और केवल इंडियन ओवरसीज बैंक, कैनरा बैंक, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, इंडियन बैंक, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, एचडीएफसी बैंक और एक्सिस बैंक के कार्ड के जरिए ही आप ऑनलाइन टिकट बुक होंगे. लेकिन अब भारतीय रेलवे की ओर से इस सूचना को गलत बताया गया है.