close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

SP नेता नरेश अग्रवाल का BJP पर हमला, 'कल ये पूछेंगे, ये सुहागरात क्‍यों मना रहा है?'

 सपा नेता नरेश अग्रवाल ने बीजेपी पर हमलावर रुख अपनाते हुए कहा, ''बीजेपी की सोच इतनी संकीर्ण क्‍यों है? यह किसी के निजी जीवन में दखल है.

SP नेता नरेश अग्रवाल का BJP पर हमला, 'कल ये पूछेंगे, ये सुहागरात क्‍यों मना रहा है?'
नरेश अग्रवाल ने कहा कि बीजेपी की सोच इतनी संकीर्ण क्‍यों है? (फोटो: ANI)

नई दिल्‍ली: सपा के राज्‍यसभा सांसद नरेश अग्रवाल ने एक विवादित बयान दिया है. दरअसल 18 दिसंबर को गुजरात चुनाव नतीजों के दिन कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी के फिल्‍म देखने को बीजेपी ने मुद्दा बनाया. बीजेपी ने तंज कसते हुए कहा है कि इतने महत्‍वपूर्ण दिन राहुल गांधी फिल्‍म देखने चले गए. इस पर सपा नेता नरेश अग्रवाल ने बीजेपी पर हमलावर रुख अपनाते हुए कहा, ''बीजेपी की सोच इतनी संकीर्ण क्‍यों है? यह किसी के निजी जीवन में दखल है. अब मान लीजिए किसी की उस दिन 'सुहाग-रात' होती, तो ये कहते ये सुहाग-रात क्‍यों मना रहा है?'

सार्वजनिक बयानबाजी में रखें मर्यादा: कांग्रेस
नई दिल्‍ली: गुजरात विधानसभा चुनाव के प्रचार के दौरान आरोप-प्रत्यारोप से राजनीतिक बयानबाजी में छिन्न-भिन्न हुई मर्यादा को देखते हुए कांग्रेस ने देश में राजनीतिक बयानबाजी में मर्यादा बनाए रखने का आह्वान किया. पार्टी के वरिष्ठ प्रवक्ता आनंद शर्मा ने कहा कि किसी को भी ऐसा कुछ नहीं कहना चाहिए जो तथ्यों से इतर हो. उन्होंने कहा कि कांग्रेस, पार्टी और अपने नेता राहुल गांधी द्वारा चुनाव के दौरान उठाए गए सवालों के जवाब मांगना जारी रखेगी. 

शर्मा ने कहा कि राहुल ने सार्वजनिक बयानबाजी में मर्यादा बनाए रखते हुए गुजरात में एक बेहद ''साहसी'' और जोश से लबरेज चुनाव प्रचार का नेतृत्व किया. कांग्रेस के नये अध्यक्ष राहुल ने चुनाव नतीजे को ''बहुत अच्छा'' और अपनी पार्टी के लिए नैतिक जीत बताया. गुजरात में आए चुनाव नतीजे में भाजपा ने राज्य की 182 विधानसभा सीटों में से 99 पर जीत हासिल की जबकि कांग्रेस के खाते में 77 सीटें गईं. 

कांग्रेस प्रवक्ता ने चुनाव नतीजे को ''ऐतिहासिक एवं अभूतपूर्व'' बताने के मोदी के दावे को खारिज करते हुए उनसे अपने ये शब्द वापस लेने को कहा क्योंकि हिमाचल प्रदेश में मुख्यमंत्री पद के लिए भाजपा के उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल एवं पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती सहित भगवा दल के कई दिग्गज नेताओं को चुनाव में हार का सामना करना पड़ा. शर्मा ने आरोप लगाया कि गुजरात चुनाव के दौरान अभूतपूर्व धन, संसाधन, ताकत, प्रशासन, केंद्र एवं राज्य सरकारों की शक्तियों का ''दुरूपयोग'' किया गया. 

उन्होंने कहा, ''प्रधानमंत्री की लोकप्रियता के बढ़ने या घटने का आकलन केवल इस बात से किया जा सकता है कि उनके (भाजपा) मत प्रतिशत में (लोकसभा चुनाव की तुलना में) 11 प्रतिशत की कमी आई और उन्होंने 15 सीटें भी गंवा दीं. कांग्रेस पार्टी का मत प्रतिशत, जैसा कि मैंने अभी-अभी कहा, 11 प्रतिशत बढ़ गया और बाकी का विश्लेषण होता रहेगा.''