भारत में अब ISIS के 'LONE WOLF ATTACK' का खतरा मंडाराया, केंद्र ने राज्‍यों को किया अलर्ट

आतंकी संगठन इस्‍लामिक स्‍टेट (आईएसआईएस) अब भारत पर अगल तरह से हमले करने की साजिश रच रहा है। गौर हो कि भारत पहले से ही पाकिस्‍तान स्थित कई आतंकी संगठनों के निशाने पर है और आईएसआईएस भी यहां अपनी मौजूदगी दर्ज कराने की फिराक में है। सूत्रों के अनुसार, भारत पर अब आईएसआईएस के 'लोन वूल्‍फ अटैक' का खतरा मंडरा रहा है।

भारत में अब ISIS के 'LONE WOLF ATTACK' का खतरा मंडाराया, केंद्र ने राज्‍यों को किया अलर्ट

नई दिल्‍ली : आतंकी संगठन इस्‍लामिक स्‍टेट (आईएसआईएस) अब भारत पर अगल तरह से हमले करने की साजिश रच रहा है। गौर हो कि भारत पहले से ही पाकिस्‍तान स्थित कई आतंकी संगठनों के निशाने पर है और आईएसआईएस भी यहां अपनी मौजूदगी दर्ज कराने की फिराक में है। सूत्रों के अनुसार, भारत पर अब आईएसआईएस के 'लोन वूल्‍फ अटैक' का खतरा मंडरा रहा है।

सूत्रों के अनुसार, खुफिया एजेंसियों ने भारत में आईएसआईएस समर्थक लोन वूल्‍फ अटैक के खतरे को लेकर अलर्ट जारी कर दिया है। डीएनए के हवाले से यह खबर सामने आई है कि भारत में 26 जनवरी से पहले आईएसआईएस के हमले को लेकर हाई अलर्ट जारी किया गया है। केंद्र ने तकरीबन सभी राज्‍यों को लोन वूल्‍फ अटैक को लेकर अलर्ट जारी किया है। सूत्रों के अनुसार आईएसआईएस भारत में लोन वूल्‍फ अटैक की फिराक में है और इस हमले को लेकर सुरक्षा एजेंसियों ने मीटिंग भी की है।

आईएसआईएस की ओर से भारत पर संभावित खतरे के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्‍यों को इसके खतरे से आगाह किया है। खुफिया सूत्रों के हवाले से यह जानकारी सामने आई है कि आईएसआईएस समर्थक भारत में 'लोन वूल्‍फ अटैक' को अंजाम दे सकते हैं। इसी खतरे के मद्देनजर गृह मंत्रालय ने हाल में एक उच्‍च स्‍तरीय बैठक की, जिसमें गृह मंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद थे। केंद्र ने यह निर्देश भी दिया है कि सभी राज्‍य चौकसी बरतें।

 

मीडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, एक वरिष्‍ठ अधिकारी के हवाले से कहा गया है कि खतरा इस बार ज़्यादा है इसलिए हमने सबको अलर्ट रहने को कहा है। खासकर लोन वूल्फ अटैक से। लोन वूल्फ अटैक का मतलब है कि एक शख्‍स जो किसी एक ग्रुप से जुड़ा हुआ हो और अकेला ही हमला करे। गौर हो कि इस साल गणतंत्र दिवस के मौके पर आईएसआईएस को लेकर सुरक्षा तंत्र सबसे ज्‍यादा चिंतित है और गृह मंत्रालय इस पर सीधी नजर रख रहा है। इस बार फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसवा ओलांद गणतंत्र दिवस में मुख्य अतिथि हैं। इसीलिए गणतंत्र दिवस पर आईएसआईएस के संभावित खतरे को लेकर सुरक्षा एजेंसियां अभी से चौंकन्‍नी हो गई है। बता दें कि कुछ माह पहले पेरिस में हुए आतंकी हमलों में 130 लोग मारे गए थे।

 

गौर हो कि लोन वूल्‍फ अटैक का मतलब है कि ऐसा हमला जिसे बिना टीम के अंजाम दिया जाता है। अब अकेला आईएस आतंकी ऐसे हमले को अंजाम दे सकता है। लोन वूल्‍फ अटैक भेडि़ये की तरह अकेला हमले करने की रणनीति है। इस अटैक में छोटे हथयारों, चाकुओं, ग्रेनेड का इस्‍तेमाल किया जाता है। ये ग्रुप लीडर से जुड़े बिना हमला करते हैं। ऐसे में सुरक्षा एजेंसियों के लिए किसी अकेले आतंकी के काम करने का पता लगाना मुश्किल हो जाता है। ऐसे हमले काफी कम खर्च में अंजाम दिए जाते हैं। हालांकि, कई बार इसमें आतंकियों का ग्रुप भी शामिल हो जाता है। बता दें कि आईएसआईएस की मैग्‍जीन 'इन्‍सपायर' में ऐसे हमले करने का बखूबी जिक्र किया गया है।