क्या मोदी की 'कूट'नीति ही पाकिस्तान का इलाज? क्या दाऊद को बचा पाएगा पाकिस्तान

मोस्ट वांटेड आतंकवादी दाऊद इब्राहिम पर बड़े खुलासे ने पाकिस्तान के आतंकवादी चरित्र को बेनकाब कर दिया है. जी न्यूज ने पाकिस्तान में दाऊद के ठिकाने का सबूत दिखाया. जिससे पाकिस्तान किसी हालत में इनकार नहीं कर सकता है.

क्या मोदी की 'कूट'नीति ही पाकिस्तान का इलाज? क्या दाऊद को बचा पाएगा पाकिस्तान
फाइल फोटो

नई दिल्ली: मोस्ट वांटेड आतंकवादी दाऊद इब्राहिम पर बड़े खुलासे ने पाकिस्तान के आतंकवादी चरित्र को बेनकाब कर दिया है. जी न्यूज ने पाकिस्तान में दाऊद के ठिकाने का सबूत दिखाया. जिससे पाकिस्तान किसी हालत में इनकार नहीं कर सकता है. जी न्यूज ने पाकिस्तान में दाऊद के परिवार के सदस्यों के पासपोर्ट से लेकर उनकी अरबों की प्रॉपर्टी के बारे में जो खुलासा किया. उससे पाकिस्तान का झूठ तार-तार हो गया है.

ज़ी न्यूज पर दाऊद इब्राहिम की ओर से किए गए खुलासे पर पाकिस्तान हैरान है. वहीं अपना राज खुल जाने से दाऊद इब्राहिम परेशान है. भारत की ओर किसी कार्रवाई की आशंका को देखते हुए उसने भी ISI से अपना ठिकाना बदलने की गुज़ारिश की है. उस पर खतरे को देखते हुए पाकिस्तान की सेना और ISI उसके लिए दूसरा ठिकाना ढूंढने में जुट गए हैं. वहीं भारत में कई राजनीतिक दलों ने भी दाऊद पर कार्रवाई की मांग तेज कर दी है. 

बड़ा सवाल यह है कि 257 भारतीयों की मौत के ज़िम्मेदार दाऊद इब्राहिम को सज़ा कब मिलेगी? पुख़्ता सबूत के बावजूद पाकिस्तान आतंकी शह क्यों दे रहा है? आतंकवाद पर पाकिस्तान का 'हिसाब' कब होगा ? अंतरराष्ट्रीय आतंकियों पर दुनिया क्यों बंटी हुई है? दाऊद-हाफ़िज़-मसूद पर और दुनिया को और कितने सबूत चाहिए? क्या मोदी की 'कूट'नीति ही पाकिस्तान का इलाज है? पाकिस्तान से त्रस्त दुनिया आखिर कब उसके खिलाफ शस्त्र उठाएगी? 

बता दें कि ज़ी न्यूज ने DNA में दाऊद इब्राहिम पर ZEE NEWS WORLD EXCLUSIVE का ख़ुलासा किया था. इसे आतंक के पनाहगार पाकिस्तान के ख़िलाफ़ भारत की बड़ी जीत माना जा रहा है. ZEE NEWS ने कराची में दाऊद इब्राहिम का घर दिखाया. दाऊद के परिवार, प्रॉपर्टी, पासपोर्ट, पहचान पत्र, बैंक खाते की ख़बर दिखाई. जिसके बाद से दाऊद इब्राहिम के खिलाफ कार्रवाई के लिए पाकिस्तान पर दबाव बढ़ता जा रहा है. 

VIDEO

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.