परमाणु हमले की धमकी देने वालों के मुंह पर ताला लगाएगा 'पृथ्वी'!, टेस्ट में हुआ पास

बुधवार की रात पृथ्वी-2 मिसाइल के परीक्षण ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा की आंखों से नींद उड़ा दी है. इतिहास में ऐसा दूसरी बार हुआ है कि भारत ने किसी भी मिसाइल का रात में परीक्षण किया हो और वह कामयाब भी रहा हो. 16 नवंबर को अग्नि 2 का ऐसे ही रात के अंधेरे में सफल टेस्ट किया गया था. 

परमाणु हमले की धमकी देने वालों के मुंह पर ताला लगाएगा 'पृथ्वी'!, टेस्ट में हुआ पास
पृथ्वी 2 मिसाइल रात में भी ऑपरेशन को अंजाम देने में सक्षम है. फाइल तस्वीर.

नई दिल्ली: पृथ्वी मिसाइल की भारत में एक सीरीज है. भारत उन्हें अपडेट करते हुए अक्सर परीक्षण करता रहा है, लेकिन बुधवार की रात पृथ्वी-2 मिसाइल के परीक्षण ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा की आंखों से नींद उड़ा दी है. इतिहास में ऐसा दूसरी बार हुआ है कि भारत ने किसी भी मिसाइल का रात में परीक्षण किया हो और वह कामयाब भी रहा हो. 16 नवंबर को अग्नि 2 का ऐसे ही रात के अंधेरे में सफल टेस्ट किया गया था. 

न्यूक्लियर हथियारों को ले जाने में सक्षम मिसाइल पृथ्वी 2 के सफल परीक्षण ने पाकिस्तान में इस कदर खलबली मचाई है कि उसे आधी रात को हुई सर्जिकल स्ट्राइक और बालाकोट एयर स्ट्राइक तक की याद आ गई. 

आधी रात पृथ्वी-2 के वार से तबाह होगा पाकिस्तान?
सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक के लिए भारत को सरहद पार जाना पड़ा था, लेकिन पृथ्वी-2 मिसाइल आधी रात में चुपके से ऐसा वार कर जाएगी कि पाकिस्तान रातों-रात तबाह हो जाएगा. बुधवार की शाम 7 सवा 7 बजे ओडिशा के बालासोर में एपीजे अब्दुल कलाम द्वीप पर सेना ने जमीन से जमीन तक मार करने वाली बैलिस्टिक मिसाइल पृथ्वी-2 का ट्रायल किया. 

'पृथ्वी' की अग्नि से पाकिस्तान खाक
पृथ्वी-2 मिसाइल की मारक क्षमता 350 किलोमीटर तक है यानी कि दुश्मन देशों का बड़ा हिस्सा इसकी जद में है. पेंसिल की आकृति वाली इस पृथ्वी-2 मिसाइल की लंबाई साढ़े 8 मीटर है. इस बैलिस्टिक मिसाइल का वजन 4600 किलोग्राम है. सबसे बड़ी खासियत ये कि पृथ्वी-2 मिसाइल अपने साथ 500 से 1000 किलोग्राम का न्यूक्लियर पेलोड ले जा सकती है.

इसका नेविगेशन सिस्टम इतना अत्याधुनिक है कि ये निशाने पर सटीक वार करता है. साथ ही इसकी रफ्तार इतनी ज्यादा है कि दुश्मन को भनक भी नहीं लगेगी और ये अपना काम कर जाएगा. पृथ्वी 2 की इन्हीं खूबियां और खासियतों की वजह से पाकिस्तान में इमरान और बाजवा खौफ में हैं.

भारत की अग्नि के मुकाबले मिसाइल शक्ति के मामले में पाकिस्तान 'ज़ीरो' से ज़्यादा कुछ नहीं है.

  1. पृथ्वी-2 की मारक क्षमता 350 KM है जबकि ग़ज़नवी की मारक क्षमता 300 KM.
  2. शौर्य की मारक क्षमता 1900 KM और गौरी-II की मारक क्षमता 1800 KM.
  3. अग्नि-3 की मारक क्षमता 2500 KM और पाकिस्तान की अबाबील मिसाइल की मारक क्षमता 2220 KM.
  4. अग्नि-4 और K-4 की मारक क्षमता 3500 KM है और पाकिस्तान की सबसे बड़ी ताकत शाहीन-III की मारक क्षमता 2750 KM है.
  5. भारत की अग्नि-5 की मारक क्षमता 5000 KM लेकिन अग्नि-5 के मुकाबले पाकिस्तान के पास कुछ भी नहीं है.

हिन्दुस्तान की ये वह मिसाइल शक्ति है, जिसका इस्तेमाल भारत दुश्मन के सैटेलाइट को नष्ट करने में भी कर सकता है. यानी युद्ध हुआ तो पाकिस्तान सफाया तय है.

ये भी देखें-: