close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गुरुग्राम में ओला ड्राइवरों का हंगामा, पुलिस ने चलाई लाठी तो उधर से हुई पत्थरबाजी

दिल्ली में ओला ड्राइवर के हुए मर्डर को लेकर साइबर सिटी गुरुग्राम में सोमवार को ओला ड्राइवर्स ने जमकर उत्पात मचाया.

गुरुग्राम में ओला ड्राइवरों का हंगामा, पुलिस ने चलाई लाठी तो उधर से हुई पत्थरबाजी
दो दिन पहले ओला कैब ड्राइवर की दिल्ली में हुई हत्या मामले में सोमवार को दिल्ली गुरुग्राम एक्सप्रेसवे पर जमकर बवाल हुआ (फोटो साभार: ANI)

नई दिल्ली: दिल्ली में ओला ड्राइवर के हुए मर्डर को लेकर साइबर सिटी गुरुग्राम में सोमवार को ओला ड्राइवर्स ने जमकर उत्पात मचाया. ड्राइवर की हत्या के विरोध में ओला कैब ड्राइवर्स ने दिल्ली गुरुग्राम एक्सप्रेसवे पर डेडबॉडी को रखकर जाम लगा दिया और जब पुलिस ने गुस्साए ड्राइवर्स को हटाना चाहा तो पुलिस पर पथराव करना शुरू कर दिया. पुलिस ने ड्राइवर्स को एक्सप्रेसवे से खदेड़ने के लिए लाठीचार्ज किया जिसके बाद हाइवे को सामान्य रुप से चलाया गया. हंगामे में कई लोगों के घायल होने की भी सूचना है.

इस वजह से भड़के ओला ड्राइवर
आपको बता दें कि दो दिन पहले ओला कैब ड्राइवर की दिल्ली में हुई हत्या मामले में सोमवार दिल्ली गुरुग्राम एक्सप्रेसवे पर जमकर बवाल हुआ. गुस्साए ओला कैब ड्राइवर्स ने डेडबॉडी को एक्सप्रेसवे पर रखकर जाम लगा दिया. गुस्साए ओला ड्राइवर्स ने हाइवे पर कई गाड़ियों में तोड़फोड़ भी की. एक्सप्रेसवे को खुलवाने के लिए जब पुलिस ने ड्राइवर्स को हटाने की कोशिश की तो ड्राइवर्स ने पुलिस पर पथराव शुरु कर दिया जिसके बाद गुरुग्राम पुलिस ने उनको खदेड़ने के लिए लाठियां भांजनी शुरू कर दीं. दरअसल, हरिनारायाण नाम का ओला कैब ड्राइवर दो दिन पहले गुरुग्राम से अलीगढ़ के लिए बुकिंग पर गया था लेकिन रविवार शाम उसकी लाश मिली. हरिनारायाण का गला घोंटकर हत्या की गई थी. जब परिजनों ने ओला कंपनी से संपर्क करना चाहा तो कंपनी ने हरिनारायण को अपना ड्राइवर मानने से इनकार कर दिया. जिसके कारण ओला कैब ड्राइवर्स में इस बात का गुस्सा था और इसीलिए सोमवार को दिल्ली गुरुग्राम बॉर्डर पर प्रदर्शन किया गया.

कई गाड़ियों में भी कई गई तोड़फोड़
जानकारी के मुताबिक दोपहर करीब दो बजे दिल्ली से पोस्टमार्टम के बाद हरिनारायण के शव को एंबुलेंस में ओला कैब के हेडक्वार्टर गुरुग्राम के उद्योग विहार लाया गया. जहां से गुस्साए ड्राइवर्स ने प्रदर्शन करना शुरु किया और एंबुलेंस को एक्सप्रेसवे के बीच खड़ा कर मृतक की पत्नी एंबुलेंस पर बैठ गई और अपने पति के लिए इंसाफ मांगने लगी. ओला ड्राइवर्स इस कदर गुस्से में थे कि उन्होंने एक्सप्रेसवे पर कई गाड़ियों में तोड़फोड़ भी की. जिसके बाद पुलिस ने उनको खदेड़ना शुरू कर दिया. जिसके जवाब में ड्राइवर्स ने पथराव किया तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया.

भारी पुलिस बल तैनात
ओला कैब ड्राइवर हरिनारायण की हत्या किसने की ये तो पुलिस जांच में सामने आएगा. हालांकि हंगामे के बाद अब दिल्ली गुरुग्राम एक्सप्रेसवे पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है ताकि कैब ड्राइवर्स दोबारा एक्सप्रेसवे जाम ना कर सकें.