close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महाराष्ट्र : ओला, उबर टैक्सी ड्राइवरों की हड़ताल से थमी मुंबई की रफ्तार

सोमवार को मुंबई की सड़कों से ऐप आधारित कैब ओला और उबर की टैक्सियां की हड़ताल के चलते लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा. 

महाराष्ट्र : ओला, उबर टैक्सी ड्राइवरों की हड़ताल से थमी मुंबई की रफ्तार

मुंबई : सोमवार को मुंबई की सड़कों से ऐप आधारित कैब ओला और उबर की टैक्सियां गायब थीं. एकसाथ बड़ी संख्या में टैक्सियों के सड़क से हट जाने से लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा. ओला और उबर कंपनियों के ड्राइवरों के बेमियादी हड़ताल पर चले जाने के कारण मुंबई में सोमवार को यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. राज ठाकरे की अगुवाई वाली महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) की परिवहन शाखा के आह्वान पर ओला और उबर के कैब ड्राइवर हड़ताल पर गए हैं. औरंगाबाद, नासिक, पुणे व महाराष्ट्र के दूसरे शहरों के ओला व उबर के हजारों चालकों ने भी इस हड़ताल में भाग लिया.

महाराष्ट्र नवनिर्माण वाहतुक सेना के अध्यक्ष संजय नाइक ने बताया कि ऐप के जरिए कैब मुहैया कराने वाली कंपनियों से बातचीत जारी है. हड़ताल खत्म करने को लेकर जल्द ही कोई फैसला हो सकता है. नाइक ने कहा कि ओला और उबर के लिए कैब चलाने वाले ड्राइवरों की कम आमदनी के विरोध में हड़ताल बुलाई गई. कैब के ड्राइवर अपने गिरते कारोबार के कारण लागत भी नहीं वसूल पा रहे हैं.

हर रोज ऐप आधारित कैब सेवा का इस्तेमाल कर दफ्तर जाने वाले लोगों को काफी लंबा इंतजार करना पड़ा क्योंकि हड़ताल के कारण इन की संख्या काफी कम थी. नाइक ने कहा कि ओला और उबर की करीब 1.30 लाख कैब में से 99 फीसदी कार सड़कों से नदारद थीं हालांकि ओला और उबर ने इन की संख्या नहीं बताई.

क्या आप OLA की इस सस्ती सेवा का लेते हैं लाभ? कंपनी के इस फैसले से लग सकता है झटका 

उबर कंपनी ने कहा कि हम अपने ग्राहकों और ड्राइवर समुदाय से कुछ लोगों के समूह की ओर से पैदा की गई दिक्कत के लिए खेद प्रकट करते हैं. हम शहर की सेवा के लिए प्रतिबद्ध हैं और सुनिश्चित करेंगे कि ड्राइवर साझेदारों को कमाई के स्थिर मौके मिलना जारी रहे और यात्रियों को शहर में सुविधाजनक विकल्प मुहैया कराते रहें. ओला के एक प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी को पुलिस की ओर से बताया गया कि यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए जरूरी कदम उठाए गए हैं.

उधर, शहर की सबसे बड़े टैक्सी यूनियन मुंबई टैक्सीमेन यूनियन ने कहा कि वह हड़ताल का समर्थन नहीं कर रहा. यूनियन के महासचिव एएल क्वाड्रोस ने कहा कि वह हड़ताल का समर्थन नहीं कर रहे हैं. ओला और उबर ने शरारती टैक्सी ड्राइवरों को रखा हुआ है और जब वे सड़कों पर नहीं थे तो यातायात सुचारू रूप से चल रहा था. 

(इनपुट एजेंसियों से)