AAP के 3 बागी विधायकों में से एक को मिली राहत, वापस ली गई शिकायत

आप पार्टी के तीन बागी विधायकों ने दलबदल कानून के तहत विधान सभा में स्पीकर के सामने अपना जवाब दायर किया.

AAP के 3 बागी विधायकों में से एक को मिली राहत, वापस ली गई शिकायत
बलदेव जैतों के खिलाफ शिकायतकर्ता ने शिकायत वापस ली

चंडीगढ़(कुलवीर दीवान): आप पार्टी के तीन बागी विधायकों ने दलबदल कानून के तहत विधानसभा में स्पीकर के सामने अपना जवाब दायर किया. इनमें से एक विधायक बलदेव जैतों को राहत मिलती हुई दिखाई दे रही है जिनके खिलाफ शिकायतकर्ता ने शिकायत वापस ले ली है. वहीं सुखपाल खैरा ने विधानसभा से और समय मांगा है जबकि विधायक अमरजीत संदोआ ने अपना जवाब दायर करते हुए विधान सभा से दलबदल कानून के उन नियमों को देने की मांग की है जिनके तहत उनकी शिकायत की हुई थी.

तीनों विधायक आम आदमी पार्टी से बगावत करके अलग हुए थे. अमरजीत संदोआ ने विधानसभा स्पीकर से मुलाकात करके अपने खिलाफ की हुई शिकायत पर अपना जवाब दायर किया. जानकारी के अनुसार संदोआ ने विधानसभा से दलबदल कानून के उन नियमों की जानकारी मांगी है जिन नियमों के तहत संदोआ के खिलाफ उनकी सदस्यता रद्द करने के लिए मांग की गई थी.

हालांकि संदोआ ने विधानसभा को क्या जवाब दायर किया है इसकी जानकारी देने से गुरेज किया है. उधर संदोआ ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह में आस्था जताते हुए अपने सियासी इरादों की तरफ गुप्त इशारा करने की जरूर कोशिश की है. संदोआ ने कहा कि वो मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ है और उनके साथ मिल कर अपने क्षेत्र का विकास करेंगे.

दलबदल कानून के तहत दूसरा मामला विधायक सुखपाल सिंह खैरा के खिलाफ चल रहा है और आज सुखपाल खैरा को भी अपना जवाब दायर करना था. विधानसभा स्पीकर को उनके खिलाफ दलबदल कानून के तहत सदस्यता रद्द करने की शिकायत मिली हुई थी जिस पर स्पीकर ने खैरा से स्पष्टीकरण मांगा था कि शिकायत के अनुसार खैरा की सदस्यता रद्द क्यों ना कर दी जाए.

खैरा ने इस शिकायत पर अपना स्पष्टीकरण देने के लिए यह तर्क देकर समय मांगा है कि वो अपने बेटे की शादी में व्यस्त होने की वजह से कानूनी तौर पर अपना स्पष्टीकरण तैयार नहीं कर पाए हैं. बहरहाल दलबदल कानून के तहत दायर की गई शिकायत में राहत आम आदमी पार्टी के बागी विधायक बलदेव सिंह जैतों को मिलती हुई दिखाई दे रही है क्यूंकि जानकारी मिली है कि उनके खिलाफ शिकायतकर्ता ने शिकायत वापिस ले ली है. जैतों ने विधानसभा में आज अपना जो जवाब दायर किया है उसमें उन्होंने जानकारी दी है.

हालांकि विधानसभा अभी इसकी जांच करवाएगी कि क्या शिकायतकर्ता ने वास्तव में शिकायत वापस ली है. गौरतलब है कि अमरजीत संदोआ ,सुखपाल खैरा और बलदेव सिंह जैतों तीनों ने आम आदमी पार्टी की टिकट पर विधानसभा चुनाव जीता था लेकिन बाद में सुखपाल खैरा ने आम आदमी पार्टी से बगावत करके अलग पार्टी बना ली थी और लोक सभा का चुनाव लड़ा था.

उनके साथ विधायक बलदेव जैतों ने भी आम आदमी पार्टी को अलविदा कहकर खैरा की पार्टी से ही लोकसभा चुनाव लड़ा था. हालांकि अब बलदेव जैतों फिर से पलटी मार गए हैं और जानकारी के अनुसार आदमी पार्टी के साथ उनकी फिर से नजदीकी बढ़ गई है. बलदेव जैतों के खिलाफ जालधंर के रहने वाले एक एडवोकेट सिमरजीत सिंह ने शिकायत दी थी जबकि सुखपाल खैरा के खिलाफ आम आदमी पार्टी ने खुद शिकायत दर्ज करवाई थी. अमरजीत संदोआ ने आम आदमी पार्टी को छोड़ कर कांग्रेस से हाथ मिला लिया था और इसी आधार पर उनके खिलाफ भी किसी व्यक्ति ने दलबदल कानून के तहत शिकायत दी थी.