Breaking News
  • दिल्‍ली हिंसा पर कांग्रेस ने राष्‍ट्रपति को ज्ञापन सौंपा
  • सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह समेत कई नेता राष्‍ट्रपति से मिले
  • अखिलेश यादव सीतापुर के लिए निकले. जेल में बंद सपा नेता आजम खां व उनके परिवार से करेंगे मुलाकात

पुलवामा हमला: देश दे रहा शहीदों को श्रद्धांजलि, लेकिन इन 3 बड़े नेताओं ने दिए विवादित बयान

एक और जहां देश आज शहीदों को श्रद्धांजलि दे रहा है वहीं कुछ नेता ऐसे भी जो हमले को लेकर विवादित बयान दे रहे हैं. 

पुलवामा हमला: देश दे रहा शहीदों को श्रद्धांजलि, लेकिन इन 3 बड़े नेताओं ने दिए विवादित बयान

नई दिल्ली: 2019  में आज ही के दिन 40जवानों ने अपनी शहादत दी थी. पुलवामा हमले (pulwama attack) का दर्द आज भी देश को है. एक और जहां देश आज शहीदों को श्रद्धांजलि दे रहा है वहीं कुछ नेता ऐसे भी जो हमले को लेकर विवादित बयान दे रहे हैं. 

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने ट्वीट कर पुलवामा हमले को लेकर तीन सवाल खड़े कर दिए. उन्होंने कहा, 'आज हम 40 सीआरपीएफ जवानों को याद कर रहे हैं जो पुलवामा हमले में शहीद हुए थे.' राहुल ने तीन सवाल खड़े किए- 1. इस हमले से सबसे ज्यादा किसे फायदा हुआ? 2. इस हमले की जांच में क्या निकला? 3. BJP सरकार में किसे अभी तक सुरक्षा चूक के लिए जवाबदेह ठहराया गया है. 

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) ने भी विवादित बयान दिया. उन्होंने कहा, आज तक कोई जांच नहीं हुई जिससे पता चलता कि कहां से आरडीएक्स आया और वाहन कैसे काफिले तक पहुंच गया?वाहन का ड्राइवर जेल में वह बाहर कैसे आ गया. जांच जरूर होनी चाहिए लोग जानना चाहते हैं कि सच क्या है. 

इससे पहले सीपीआई (एम) नेता मोहम्मद सलीम ने भी पुलवामा हमले को लेकर विवादित ट्वीट किया था. उन्होंने लिखा, ‘हमें जवानों के लिए स्मारक नहीं चाहिए. बल्कि हम ये जानना चाहते हैं कि अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर से 80 किलो RDX कैसे भारत में आ गया, वो भी उस जगह जहां पर सेना की इतनी बड़ी तादाद है.'

tweet

हालांकि राहुल के सवालों पर बीजेपी ने पलटवार किया. बीजेपी नेता जीवीएल नरसिम्हा ने ट्वीट कर कहा, 'देश जब पुलवामा हमले के शहीदों को याद कर रहा है. लश्कर और जैश-ए-मोहम्मद से सहानुभूति के लिए जाने जाने वाले राहुल गांधी ने ना सिर्फ सरकार पर बल्कि सुरक्षा बलों पर भी निशाना साधा. राहुल कभी भी वास्तविक दोषी पाकिस्तान से सवाल नहीं करेंगे. शर्म करो राहुल.'

बता दें पुलवामा में 14 फरवरी 2019 को जैश-ए-मोहम्मद (जैश) के आत्मघाती हमलावर ने सीआरपीएफ के काफिले पर हमला किया था. इस आतंकी हमले में 40 जवान मारे गए थे.