मुफ्ती मोहम्‍मद सईद के निधन पर विपक्षी दलों ने जताया शोक

जम्मू-कश्मीर के विपक्षी दलों ने मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद के निधन पर शोक जताया है। सईद के पूर्ववर्ती उमर अब्दुल्ला ने कहा है कि वह उनके निधन से दुखी हैं। उमर ने ट्विटर पर लिखा, अभी-अभी मुफ्ती साहब के निधन की बुरी खबर सुनी। मैं स्तब्ध हूं और बेहद दुखी हूं। उनकी रूह को शांति मिले।

श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर के विपक्षी दलों ने मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद के निधन पर शोक जताया है। सईद के पूर्ववर्ती उमर अब्दुल्ला ने कहा है कि वह उनके निधन से दुखी हैं। उमर ने ट्विटर पर लिखा, अभी-अभी मुफ्ती साहब के निधन की बुरी खबर सुनी। मैं स्तब्ध हूं और बेहद दुखी हूं। उनकी रूह को शांति मिले।

जेकेपीसीसी के प्रमुख गुलाम अहमद मीर ने कहा कि सईद राज्य का सबसे बड़ा स्तंभ थे। मीर ने कहा कि सईद ने अपना पूरा जीवन राजनीति में बिताया और राज्य के हितों के लिए काम किया। उनका उद्देश्य राज्य में व्याप्त अनिश्चितता को खत्म करना था। माकपा के विधायक एम वाई तरीगामी ने कहा कि यह पहले से तनाव झेल रहे जम्मू-कश्मीर के लोगों के लिए बेहद दुख की घड़ी है। तरीगामी ने कहा कि सईद के परिपक्व नेतृत्व की कमी बहुत खलेगी। उन्होंने कहा कि वह एक ऐसे व्यक्ति थे, जिन्होंने अपने लंबे राजनीतिक करियर में राज्य के लिए बहुत कुछ किया। उन्हें राज्य को अव्यवस्था की स्थिति से बाहर लाने के उनके प्रयासों के लिए याद किया जाएगा।

 

जम्मू कश्मीर सरकार ने सात दिन के शोक और आज अवकाश की घोषणा की है। इस दौरान झंडे आधे झुके रहेंगे। मुख्यमंत्री की पार्थिव देह को विमान से श्रीनगर लेकर जाया जाएगा जहां उनके शव को अंतिम दर्शनार्थ रखा जाएगा। पार्थिव शरीर को दक्षिण कश्मीर में उनके पैतृक गांव बिजबेहड़ा में दफनाए जाने की संभावना है जो श्रीनगर के करीब 48 किलोमीटर दूर है। सईद ने पिछले साल एक मार्च को पीडीपी-भाजपा गठबंधन सरकार में मुख्यमंत्री के रूप में कार्यभार संभाला था। पीडीपी ने 87 सदस्यीय विधानसभा में 28 और भाजपा ने 25 सीटें जीती थीं जबकि विपक्षी नेशनल कांफ्रेंस को 15 और कांग्रेस को 12 सीटों पर जीत मिली थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सईद के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि उनके न रहने से देश में एक शून्य पैदा हो गया है और सुकून की राह पर आगे बढ़ाने वाले इस नेता की कमी खलेगी।

मोदी ने कहा कि मुफ्ती साहब एक उत्कृष्ट व्यक्तित्व थे। राजनीतिक परिदृश्य में, अपने लंबे राजनीतिक सफर में उनके कई प्रशंसक थे। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मुफ्ती के निधन पर शोक व्यक्त किया और उनके परिवार के प्रति अपनी संवेदनाएं प्रकट कीं। उन्होंने कहा कि उनके निधन से जम्मू कश्मीर ने ही नहीं बल्कि पूरे देश ने एक अच्छा नेता खो दिया। जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने एम्स में मौजूद सईद के परिवार के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करते हुए ट्वीट किया, मुफ्ती साहब के गुजर जाने की दुखद खबर सुनी। मैं स्तब्ध और बहुत दु:खी हूं। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे।