close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ममता, केजरीवाल के बाद फिर एक साथ दिखेगा पूरा विपक्ष, कांग्रेस भी हो सकती है शामिल!

13 फरवरी को कांग्रेस समेत छह मुख्य विपक्षी दलों के नेताओं के बीच हुई बैठक में साझा रणनीति बनाने का फैसला लिया गया था. 

ममता, केजरीवाल के बाद फिर एक साथ दिखेगा पूरा विपक्ष, कांग्रेस भी हो सकती है शामिल!
फाइल फोटो

नई दिल्लीः विपक्षी दल आगामी लोकसभा चुनाव के लिये न्यूनतम साझा कार्यक्रम यानि भाजपा को हराने की साझा रणनीति को लेकर 27 फरवरी को दिल्ली में अहम बैठक करेंगे. सूत्रों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी.

13 फरवरी को कांग्रेस समेत छह मुख्य विपक्षी दलों के नेताओं के बीच हुई बैठक में साझा रणनीति बनाने का फैसला लिया गया था. इसके बाद ऐलान किया गया था कि लोकसभा चुनाव के लिये चुनाव पूर्व गठनबंधन और न्यूनतम साझा कार्यक्रम बनाया जाएगा. उस बैठक में काग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, तृणमूल कांग्रेस प्रमुख एवं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, आम आदमी पार्टी प्रमुख एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, राकांपा अध्यक्ष शरद पवार, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं तेदेपा प्रमुख चंद्रबाबू नायडू और नेशनल कांफ्रेस प्रमुख फारुक अब्दुल्ला समेत अन्य नेताओं ने शिरकत की थी. 

सूत्रों के मुताबिक चुनाव पूर्व गठबंधन का समर्थन नहीं करने वाले वाम दलों के बैठक में हिस्सा लेने की उम्मीद नहीं है. अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट समर विशाल ने कहा कि वह याचिका में आरोपी के तौर पर उन्हें तलब किए जाने या नहीं किए जाने पर दो मार्च को अपना फैसला सुनाएंगे.
विवेक ने अपनी याचिका में कहा था कि पत्रिका और रमेश ने ‘‘उनके पिता से बदला लेने के लिए’’ उन्हें ‘‘जानूबझकर बदनाम’’करने की कोशिश की.

‘द कैरवैन’ ने आरोप लगाया था कि विवेक डोभाल ‘‘केमैन द्वीप में एक हेज फंड चलाते हैं’’ जो ‘‘कालाधन छुपाने के लिए पनाहगाह’’ के रूप में जाना जाता है. शिकायत के अनुसार रमेश ने 17 जनवरी को एक संवाददाता सम्मेलन आयोजित करके लेख में कहे ‘‘निराधार तथ्यों’’ को दोहराया था.