close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कावेरी विवाद : सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद कर्नाटक में हिंसा और तनाव, धारा 144 लागू

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में पुलिस ने कावेरी नदी जल विवाद के मुद्दे को लेकर तमिलनाडु के रजिस्ट्रेशन नंबर वाले वाहनों और अन्य संपत्तियों को नुकसान पहुंचा रहे प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया। पुलिस ने यहां मैसूर रोड पर एक बस स्टेशन पर हमला कर तमिलनाडु के रजिस्ट्रेशन नंबर वाले वाहनों को निशाना बनाया तथा होटल में भी तोडफ़ोड़ की।पुलिस आयुक्त एनएस मेघरिक ने बताया कि पूरे शहर में धारा 144 लगा दी गई है।

कावेरी विवाद : सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद कर्नाटक में हिंसा और तनाव, धारा 144 लागू

नई दिल्ली: कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में पुलिस ने कावेरी नदी जल विवाद के मुद्दे को लेकर तमिलनाडु के रजिस्ट्रेशन नंबर वाले वाहनों और अन्य संपत्तियों को नुकसान पहुंचा रहे प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया। पुलिस ने यहां मैसूर रोड पर एक बस स्टेशन पर हमला कर तमिलनाडु के रजिस्ट्रेशन नंबर वाले वाहनों को निशाना बनाया तथा होटल में भी तोडफ़ोड़ की।पुलिस आयुक्त एनएस मेघरिक ने बताया कि पूरे शहर में धारा 144 लगा दी गई है।

पुलिस ने लाठीचार्ज और आंसू गैस का प्रयोग का प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर किया। प्रदर्शनकारी तमिलनाडु में कन्नड़ लोगों पर हमले का विरोध कर रहे थे। 
श्रीरामपुरा, ओकालीपुरम, कलासीपाल्या और प्रकाशनगर जैसे संवेदनशील क्षेत्रों में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। शहर के तमिल बहुल इलाकों में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है तथा त्वरित कार्रवाई बल (आरपीएफ) को तैनात कर दिया गया है। 

 

गौरतलब है कि कर्नाटक को तमिलनाडु के लिए कावेरी नदी से पानी छोड़े जाने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को अपने पांच सितंबर के आदेश में संशोधन किया है। कोर्ट ने कर्नाटक को तमिलनाडु के लिए कावेरी नदी से छोड़े जाने वाले पानी की मात्रा घटाते हुए 20 सितंबर तक प्रतिदिन 12,000 क्यूसेक पानी जारी करने का आदेश दिया ताकि समीपवर्ती राज्य के किसानों की हालत में सुधार हो सके।

 

हिंसक प्रदर्शनों के मद्देनजर ज्यादातर दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद रखी। स्कूल कॉलेज भी बंद रहे और छात्रों को वापस घर लौटा दिया गया। पीनया औद्योगिक क्षेत्र में कन्नड़ प्रदर्शनकारियों ने तमिल लोगों के होटल और फैक्ट्रियों को बंद करा दिया। इस दौरान करीब 10 फैक्ट्रियां बंद रही। 

वहीं, तमिलनाडु में भी कावेरी जल मुद्दे को लेकर हालात असामान्य रहे। चेन्नई में तड़के कुछ अज्ञात लोगों ने कर्नाटक मूल के एक व्यक्ति के होटल पर पेट्रोल बम फेंके और पत्थरबाजी की।

इस घटना के पीछे शामिल लोगों की तलाश की जा रही है। रविवार शाम भी तमिल लोगों ने कावेरी मसले पर बैठक करने जा रहे कन्नड़ लोगों को ऐसा नहीं करने दिया। यहां के रामेश्वरम, नगापट्टीनम और रामनाथपुरम जिलों में भी कर्नाटक के वाहनों को निशाना बनाया गया। 

 

कर्नाटक के किसानों के भारी विरोध के बाद ऐहतियातन कृष्णाराजा सागर डैम को चार दिन के लिए बंद कर दिया गया था। इसके अलावा वृंदावन गार्डेन को भी बंद कर दिया गया था।

कर्नाटक के किसानों का कहना है कि राज्य सरकार उनके प्रति संवेदनहीन बनी हुई है। मैसूर-मांड्या के इलाकों में सिंचाई की दिक्कत के साथ-साथ पीने की पानी की दिक्कत है, लेकिन कर्नाटक सरकार को इससे मतलब नहीं है।

कर्नाटक का कहना है कि इसके पास पीने व खेती करने के लिए पर्याप्त पानी नहीं है। राज्य की कांग्रेस सरकार ने शांति की अपील की है।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने एक सर्वदलीय बैठक बुलाई थी। उनके अनुसार, कर्नाटक सरकार के समक्ष पेश आ रही गंभीर कठिनाइयों के बावजूद राज्य सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के अनुरूप पानी छोड़ेगा। उन्होंने यह भी कहा था कि राज्य एक नई याचिका के साथ सु्प्रीम कोर्ट जाएगा।

उन्होंने कहा कि भारी मन के साथ यह निर्णय किया गया है कि तमिलनाडु को पानी दिया जाएगा। जबकि हमारे राज्य को खुद गंभीर कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।

कर्नाटक सरकार ने तमिलनाडु से कन्नड़ लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने को कहा

कावेरी नदी से जल छोड़ने को लेकर विवाद के बीच कर्नाटक ने तमिलनाडु में अपने राज्य के वाहनों तथा कन्नड़ लोगों द्वारा संचालित होटलों पर हो रहे हमलों पर चिंता जाहिर करते हुए तमिलनाडु सरकार से सुरक्षा सुनिश्चित करने को कहा है।

मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा है कि तमिलनाडु में अपनी समकक्ष जयललिता को पत्र लिखकर वे दोनों राज्यों के बीच मैत्री कायम रखने में सहयोग करने का अनुरोध करेंगे।

सिद्धारमैया ने कहा कि कन्नड़ लोगों पर हो रहे हमलों के बारे में जरूरत पड़ने पर वे केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से भी बात कर सकते हैं। सिद्धारमैया ने यहां संवाददाताओं से कहा कि राज्य के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक ने तमिलनाडु के अपने समकक्षों से बात कर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित करने को कहा है ताकि ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति नहीं हो।

उन्होंने कहा कि साथ ही तमिलनाडु को आश्वासन दिया है कि राज्य में तमिल लोगों और उनकी संपत्ति की सुरक्षा के लिए कदम उठाए गए हैं। सिद्धारमैया ने मीडिया को संवेदनशील मुद्दों से जुड़े कुछ मामलों को ‘महिमामंडित’ नहीं करने की सलाह दी है।

कर्नाटक के गृहमंत्री जी परमेश्वर ने कहा है कि बेंगलुरू समेत कर्नाटक के उन इलाकों में पुलिस बल तैनात किया गया है जहां तमिल लोग बड़ी संख्या में रहते हैं। उन्होंने कहा, ‘हमने एहतियात बरता है।’

कर्नाटक के गृहमंत्री जी परमेश्वर ने दोनों राज्यों के लोगों से अपील की कि वे हिंसा का सहारा नहीं लें। राज्य के डीजीपी ने तमिलनाडु के अपने समकक्ष से कहा है कि वे अपने राज्य में कन्नड़ लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करें जबकि ‘हम भी यह सुनिश्चित करेंगे कि कर्नाटक में तमिल लोग सुरक्षित रहें।’

कावेरी विवाद तथा कन्नड़ अभिनेताओं के खिलाफ टिप्पणियां करने वाले और तमिलनाडु के एक इंजीनियरिंग छात्र की लोगों के एक समूह द्वारा पिटाई करने की घटना पर उन्होंने कहा कि यह तो ‘एक छोटी सी घटना है।’ छात्र की पिटाई का वीडियो वायरल हो रहा है।

परमेश्वर ने कहा कि पुलिस ने छात्र से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन यह संभव नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि ‘‘छोटी-मोटी घटनाओं को जरूरत से ज्यादा तूल नहीं देना चाहिए।’चेन्नई में तमिल समर्थकों ने आज कर्नाटक के मूल निवासी एक व्यक्ति के होटल पर हमला किया और उसे क्षतिग्रस्त कर दिया।

रामेश्वरम में एक मंदिर में पार्क किए गए कर्नाटक के पंजीयन वाले सात पर्यटक वाहनों को भी निशाना बनाया गया।इस बीच बेंगलुरू तमिल संगम ने आज सिद्धारमैया से पुलिस को सुरक्षा व्यवस्था कायम रखने और राज्य में रह रहे सभी तमिलों को सुरक्षा देने का निर्देश देने की मांग की।