close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चेन्नई में भारी बारिश से थम गई जिंदगी, एयरपोर्ट कल तक के लिए बंद, पीएम मोदी ने हालात पर की चर्चा

चेन्नई और आसपास के जिलों में भारी बारिश से राज्य के कई तटीय क्षेत्र जलमग्न हो गये और राज्य की राजधानी तथा कई जिलों के बीच रेल और सड़क संपर्क कट गया। चेन्नई हवाई अड्डे पर भी परिचालन कल सुबह तक के लिए बंद कर दिया गया। इस बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बाढ़ से उत्पन्न हालात के बारे में गृह मंत्री राजनाथ सिंह और कैबिनेट सहयोगियों से चर्चा की।

चेन्नई में भारी बारिश से थम गई जिंदगी, एयरपोर्ट कल तक के लिए बंद, पीएम मोदी ने हालात पर की चर्चा

चेन्नई/नई दिल्ली : चेन्नई शहर और आसपास के जिलों में लगातार हो रही तेज बारिश की वजह से राज्य के कई तटीय क्षेत्र जलमग्न हो गये और राज्य की राजधानी तथा कई जिलों के बीच रेल और सड़क संपर्क कट गया। चेन्नई हवाई अड्डे पर भी परिचालन कल सुबह तक के लिए बंद कर दिया गया। इस बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तमिलनाडु और आंध्रप्रदेश के कुछ हिस्सों में भारी बारिश के कारण आई बाढ़ से उत्पन्न हालात के बारे में गृह मंत्री राजनाथ सिंह और अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगियों के साथ चर्चा की। 

लोकसभा में देश के विभिन्न हिस्सों में बाढ़ से उत्पन्न स्थिति के मुद्दे पर हुई विशेष चर्चा में हस्तक्षेप करते हुए संसदीय कार्य मंत्री एम. वेंकैया नायडू ने कहा, ‘मैं सदन को सूचित करना चाहता हूं कि प्रधानमंत्री ने आज गृह मंत्री, वित्त मंत्री और मेरे साथ तमिलनाडु में बाढ़ की स्थिति पर चर्चा की। हमने इस बारे में सूचनाएं साझा की।’ प्रधानमंत्री ने मंगलवार को तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता से भी बात की थी और बाढ़ से निपटने में केंद्र के हर संभव मदद और सहयोग का भरोसा दिया था। वेंकैया ने कहा कि गृह मंत्री उच्चस्तरीय बैठक कर रहे हैं ताकि तमिलनाडु के लोगों को राहत सुनिश्चित किया जा सके।

करीब 18 दिनों से भारी बारिश का प्रकोप झेलने वाले चेन्नई शहर और पड़ोसी कांचीपुरम, तिरवल्लूर तथा कुड्डलूर जिलों में बुधवार सुबह बारिश में थोड़ी कमी आई। बारिश की वजह से सबसे बुरी तरह प्रभावित शहर के तंबरम, मुडिचुर और उरापक्कम इलाकों में सेना, नौसेना और एनडीआरएफ के दलों को तैनात किया गया है। बचाव कार्यों में पुलिस और दमकल सेवा के जवानों को भी लगाया गया है। तटरक्षक ने शहर के कुछ इलाकों में अपनी नौकाएं लगाई हैं। इन इलाकों में इतने कम समय में इतनी मूसलधार बारिश होने की बात याद नहीं आती।

तमिलनाडु में पिछले कुछ समय से बहुत भारी बारिश हो रही है और आज यहां 35 सेमी बारिश हुई है, जिससे तबाही की स्थिति पैदा हो गई। मौसम विभाग के मुताबिक यह उग्रता अगले 48 घंटे में और फिर 72 घंटे में कम होगी लेकिन यह पांच-सात दिन तक जारी रह सकती है। आडयार, वडापलानी और वालाससरावक्कम के किनारों पर जफरखानपेट, साइदापेट और कोट्टुरपुरम में टीमों को सेवा में लगाया गया है और शहर के पश्चिमी हिस्सों में कई इलाकों में बाढ़ का पानी लोगों के घरों में घुस गया है। नवंबर में हुई बारिश में प्रभावित रहे चेन्नई के दक्षिणी उपनगरीय क्षेत्रों में एक बार फिर बारिश का कहर बरपा है जिनमें वेलाचेरी, मडिपक्कम और पड़ोसी इलाके शामिल है।

चेन्नई को मदुरै और अन्य इलाकों से जोड़ने वाली ग्रांड सदर्न ट्रंक रोड, ओल्ड महाबलीपुरम रोड और ईस्ट कोस्टल रोड पर बारिश से बड़ा हिस्सा बह जाने से यातायात अवरद्ध है। दक्षिणी जिलों के यात्री जहां बीच रास्ते में फंस गये हैं, वहीं चेन्नई सेंट्रल और इगमोर स्टेशनों पर भी बड़ी संख्या में मुसाफिर असहाय दिखाई दिये। चेन्नई में उपनगरीय रेल सेवा को भी पटरियों पर पानी भर जाने की वजह से रोक दिया गया है।

चेंबरमबक्कम, पूंदी और पुझल जलाशयों से अधिक पानी के प्रवाह की वजह से भी बाढ़ के हालात बने हैं। चेंबरमबक्कम झील से अभूतपूर्व तरीके से 30,000 क्यूसेक पानी निकाला गया है। शहर में एहतियातन कई हिस्सों में बिजली काट दी गयी है वहीं लोगों को दूध और पानी जैसी जरूरी वस्तुओं की भी किल्लत हो रही है। वायु सेना के हेलीकॉप्टरों को बुरी तरह प्रभावित कुछ क्षेत्रों में खाने के पैकेट गिराते देखा गया। दक्षिण रेलवे ने 16 ट्रेनें निरस्त कर दीं और 12 अन्य के रास्ते बदल दिये।

हवाईअड्डे पर रनवे, टरमक और एप्रन इलाकों में बारिश का पानी भर जाने की वजह से इसे कल सुबह छह बजे तक के लिए बंद कर दिया गया है। कल रात से ही हवाईअड्डे पर परिचालन बंद कर दिया गया। चेन्नई आने वाली उड़ानों को बेंगलूर और हैदराबाद की ओर मोड़ दिया गया। जलभराव को देखते हुए चेन्नई हवाईअड्डा प्रशासन ने कल सुबह छह बजे तक के लिए संचालन बंद कर दिया है। एयर इंडिया समेत सभी विमान सेवाओं ने चेन्नई हवाईअड्डे से अपनी सेवाओं का संचालन रद्द कर दिया है।

प्रवक्ता ने कहा कि चेन्नई हवाईअड्डा प्रशासन ने शुरूआत में आज सुबह तक संचालन बंद किया था लेकिन लगातार बारिश के कारण कल सुबह छह बजे तक संचालन बंद रखने का फैसला किया गया है। नोटिस टू एयरमैन एक ऐसा नोटिस होता है, जिसमें वायुक्षेत्र प्रबंधन के तहत किसी प्रतिष्ठान, स्थिति या सुविधा, सेवा या प्रक्रिया में बदलाव आदि की जानकारी दी होती है। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने दिल्ली में कहा कि मौजूदा स्थिति को देखते हुए केंद्र ने सेना, नौसेना और एनडीआरएफ के दलों को पर्याप्त संख्या में तैनात किया है।

एनडीआरएफ के महानिदेशक ओ पी सिंह ने कहा कि एनडीआरएफ बारिश की मार झेल रहे राज्य में 15 अन्य दल उतार रहा है। वहीं 10 दल भुवनेश्वर से तिरूपति ले जाए जा रहे हैं जबकि अन्य पांच दल दिल्ली से ले जाए जा रहे हैं। हर दल में 40 कर्मी हैं। इन दलों के पास बचाव अभियानों को अंजाम देने के लिए हवा भरने वाली 20 नौकाएं भी हैं।

एनडीआरएफ के डीआईजी और कमांडिंग अधिकारी अभियानों पर नजर रखने के लिए चेन्नई में डेरा डाले हैं। सिंह ने कहा कि वह तमिलनाडु के राहत आयुक्त से लगातार संपर्क में हैं। नौसेना के अभियानों के बारे में बात करते हुए रीयर एडमिरल आलोक भटनागर ने कहा कि नौसेना ने दो नौकाओं और दो हेलीकॉप्टर वाले सहायता समूह को तैनात किया है। रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि स्थिति से निपटने के लिए और अधिक बलों को तैनात किया जाएगा।

पुडुचेरी और इसके आसपास के उपगनरों में आज सुबह साढ़े आठ बजे से पहले के 24 घंटे में 21.8 सेन्टीमीटर बारिश दर्ज की गयी। लगातार हो रही मूसलाधार बारिश के बीच, सरकार ने शैक्षणिक संस्थानों में आज छुट्टी की घोषणा कर दी। हालांकि, आज सुबह करीब 30 मिनट तक बारिश रूकी रही और फिर शुरू हो गयी। मुख्यमंत्री एन रंगास्वामी ने कल राहत कार्यों की निगरानी करने के लिए बारिश प्रभावित कई इलाकों का दौरा किया। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से राहत कार्यों के लिए 100 करोड़ रूपये की अंतरिम वित्तीय सहायता जारी करने की मांग की।