केंद्र को बढ़े दामों पर घेरने वाली कर्नाटक सरकार ने महंगा किया पेट्रोल और डीजल

इस बढ़ोत्तरी के बाद राज्य में अब पेट्रोल की कीमत 70.84 रुपए प्रति लीटर और डीजल की 64.66 रुपए प्रति लीटर हो गई है. 

केंद्र को बढ़े दामों पर घेरने वाली कर्नाटक सरकार ने महंगा किया पेट्रोल और डीजल
फाइल फोटो

बेंगलुरू: कांग्रेस-जेडीएस के गठबंधन वाली कर्नाटक सरकार ने शुक्रवार को पेट्रोल और डीजल पर टैक्स की दर बढ़ाकर क्रमश: 32 प्रतिशत और 21 प्रतिशत कर दी. मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक आधिकारिक बयान में इसका कारण बताते हुए कहा गया है कि कच्चे तेल की अंतरराष्ट्रीय बाजार में लगातार गिरती कीमतों से राज्य के राजस्व पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है. राज्य में पेट्रोल और डीजल पर टैक्स की दर क्रमश: 28.75 और 17.73 प्रतिशत थी जिसे बढ़ाकर 32 और 21 प्रतिशत कर दिया गया है. 

इस बढ़ोत्तरी के बाद राज्य में अब पेट्रोल की कीमत 70.84 रुपए प्रति लीटर और डीजल की 64.66 रुपए प्रति लीटर हो गई है. हालांकि, इस बढ़ोत्तरी के बावजूद कर्नाटक में ईंधन की खुदरा कीमत पड़ोसी राज्यों से कम ही हैं. एक जनवरी 2019 को इन ईंधनों के आधार मूल्य को देखते हुये दाम पड़ोसी राज्यों से कम रहे हैं. गौरतलब है कि हाल ही में पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा था कि आने वाले दिनों में पेट्रोल और डीजल के दाम और घटेंगे, जिसका फायदा आमलोगों को होगा. उन्होंने कहा था कि पेट्रोल और डीजल की कीमत घटाने के लिए सरकार देश में रिफाइनरी की क्षमता बढ़ा रही है. रिफाइनरी की क्षमता बढ़ने से ज्यादा मात्रा में क्रूड ऑयल को पेट्रोल और डीजल में बदल जा सकेगा, जिससे इसकी कीमत में कमी आएगी.

बता दें, पिछले कुछ दिनों से लगातार पेट्रोल और डीजल की कीमत घटती जा रही है. 2 जनवरी को इसकी कीमत में किसी तरह का बदलाव नहीं हुआ. 1 जनवरी को  महानगरों में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 17 पैसे तक की कटौती हुई थी. दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 68.65 रुपए और डीजल की कीमत 62.66 रुपए प्रति लीटर थी. 

(इनपुट भाषा से)