कोलकाता: अपनी बहन और कुत्तों के कंकाल के साथ घर में रह रहा था व्यक्ति

शहर की पुलिस ने आग लगने से एक व्यक्ति की मौत की जांच के दौरान उसके घर में उसके बेटे को अपनी बड़ी बहन और दो पालतू कुत्तों के कंकाल के साथ पाया। यह व्यक्ति पिछले छह महीने से घर में ऐसे ही रह रहा था।

कोलकाता: अपनी बहन और कुत्तों के कंकाल के साथ घर में रह रहा था व्यक्ति

कोलकाता : शहर की पुलिस ने आग लगने से एक व्यक्ति की मौत की जांच के दौरान उसके घर में उसके बेटे को अपनी बड़ी बहन और दो पालतू कुत्तों के कंकाल के साथ पाया। यह व्यक्ति पिछले छह महीने से घर में ऐसे ही रह रहा था।

पुलिस शहर के मध्य में स्थित रोबिंसन स्ट्रीट के मकान संख्या तीन की दूसरी मंजिल पर आग लगने मामले की जांच कर रही थी। बुधवार रात एक बाथरूम में घर के मालिक 77 साल के अरविंदो डे का जला शव बरामद किया गया था। विशेष अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) पल्लव कांति घोष ने संवाददाताओं से कहा कि कल देर रात की घटना के बाद हमने डे के फ्लैट के बाहर दो कांस्टेबल तैनात किए। डे के बेटे पाथरे (45) ने उन्हें देखकर असामान्य तरीके से व्यवहार करना शुरू कर दिया। पुलिस को शुरू में लगा कि पाथरे ऐसा अपने पिता को खोने के दुख के कारण कर रहा है लेकिन जब पाथरे से पूछताछ की गई तब उसने अपनी बड़ी बहन का कंकाल और पालतू कुत्तों का कंकाल घर में होने की अजीबो गरीब बात बताई।

पुलिस ने घर की तलाशी और एक कमरे से पाथरे की बड़ी बहन देवजानी (50) और दो पालतू कुत्तों के कंकाल और एक दूसरे कमरे से कथित रूप से उसके पिता द्वारा लिखा गया सुसाइड नोट बरामद किया। आठ जून की तारीख वाले नोट में उसके पिता ने लिखा था कि उसकी मौत के लिए कोई जिम्मेदार नहीं है। पाथरे ने कहा कि देवजानी पिछले साल अपने दो कुत्तों के मारे जाने से दुखी थी और खाना छोड़ दिया था। छह महीने पहले उसकी मौत हो गई। पुलिस ने पाथरे को मानसिक अस्पताल भेज दिया है। घोष ने कहा कि घटना को लेकर कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है और न ही किसी को गिरफ्तार किया गया है। तीनों कंकालों को फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है।