रियो ओलंपिक के लिए टूटा मैरीकॉम का सपना, वाइल्ड कार्ड एंट्री देने से IOC का इंकार

ओलंपिक पदक विजेता एमसी मैरीकॉम को झटका लगा है। मैरीकॉम इस बार खेलों के महाकुंभ यानी ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्‍व नहीं कर पाएंगी। मैरीकॉम को रियो ओलंपिक में वाइल्ड कार्ड के जरिए एंट्री देने से मना कर दिया गया है।

रियो ओलंपिक के लिए टूटा मैरीकॉम का सपना, वाइल्ड कार्ड एंट्री देने से IOC का इंकार

नई दिल्ली: ओलंपिक पदक विजेता एमसी मैरीकॉम को झटका लगा है। मैरीकॉम इस बार खेलों के महाकुंभ यानी ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्‍व नहीं कर पाएंगी। मैरीकॉम को रियो ओलंपिक में वाइल्ड कार्ड के जरिए एंट्री देने से मना कर दिया गया है।
 
अंतरराष्ट्रीय बॉक्सिंग परिषद (AIBA) की एडहॉक समिति के चेयरमैन किशन नरसी ने कहा कि रियो ओलंपिक में हम सब एमसी मैरीकॉम को पंच जड़ते नहीं देख पाएंगे, क्‍योंकि भारत की ओर से बॉक्‍सिंग के दो खेलों के लिए आठ बॉक्‍सरों का पहले ही चयन हो चुका है। अंतरराष्‍ट्रीय ओलंपिक समिति के नियम के मुताबिक दो खेलों के लिए एक देश से आठ से ज्‍यादा खिलाड़ी हिस्‍सा नहीं ले सकते। इसी वजह से मैरीकॉम को रियो ओलंपिक में वाइल्‍ड कार्ड एंट्री देने से मना कर दिया गया है।

गौर हो कि मैरीकॉम पांच बार ओलंपिक में अपना जौहर दिखा चुकी हैं। लंदन ओलंपिक में उन्‍होंने भारत के लिए कांस्‍य पदक जीता था। 33 वर्षीय की मैरीकॉम ओलंपिक के लिए क्वालिफाई नहीं कर पाई थीं। मैरीकॉम एक वर्ल्ड क्लास मुक्केबाज हैं, जिनके नाम पांच वर्ल्ड कप खिताब दर्ज हैं और वो 16 साल से बॉक्सिंग की दुनिया में नाम कमा रही हैं। मैरी कॉम पिछले महीने ही राज्यसभा की सदस्य बनीं। उसके फौरन बाद वर्ल्ड चैंपियनशिप के दूसरे राउंड में वह हार गईं और रियो का टिकट हासिल करने से चूक गईं।