कोलकाता के अशोक हॉल गर्ल्स स्कूल में अभिभावकों का विरोध प्रदर्शन

देशभर में कोरोना के बढ़ते मामलों और लॉकडाउन के चलते देश की आर्थिक व्यवस्था चरमरा गई है. इसका बुरा असर देश की शिक्षण प्रणालियों पर भी पड़ा है. ऐसे हालातों में स्कूल फीस भरना अभिभावकों के लिए एक गंभीर मामला है.

कोलकाता के अशोक हॉल गर्ल्स स्कूल में अभिभावकों का विरोध प्रदर्शन

नई दिल्ली: देशभर में कोरोना के बढ़ते मामलों और लॉकडाउन के चलते देश की आर्थिक व्यवस्था चरमरा गई है. इसका बुरा असर देश की शिक्षण प्रणालियों पर भी पड़ा है. ऐसे हालातों में स्कूल फीस भरना अभिभावकों के लिए एक गंभीर मामला है. कोलकाता के अशोक हॉल गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल के सामने मंगलवार को अभिभावकों ने विभिन्न मांगों के चलते जमकर प्रदर्शन किया. 

उनकी मांग है कि मौजूदा फीस में 50 प्रतिशत कटौती की जाए. चूंकि देश मे हर कोई कठिन स्थिति से गुजर रहा है. और इस स्थिति में कई बेरोजगार हो गए हैं. बहुतों ने अपना अधिकांश वेतन खो दिया है. अभिभावकों का मानना है कि हो सकता है ऐसे हालात साल के अंत तक बने रहें और इस स्थिति में, यदि स्कूल के अधिकारियों ने फीस में कटौती नहीं की तो माता-पिता के लिए भुगतान करना संभव नहीं है.

इसलिए अभिभावकों ने मांग की है कि जब तक कोरोना की वैक्सीन नहीं आ जाती और स्कूल पूरी तरह खुल नहीं जाता तब तक वे स्कूल की फीस का 50 प्रतिशत भुगतान करेंगे. इस स्थिति में वे ईसीए शुल्क का भुगतान नहीं करेंगे. उन्होंने कहा कि वे बस का किराया भी नहीं देंगे. यही नहीं जब तक स्कूल नहीं खुलता वे किसी भी अतिरिक्त राशि का भुगतान नहीं करेंगे जिनका लाभ बच्चे नहीं उठा पा रहे हैं. अभिभावक चाहते हैं कि स्कूल अधिकारी उनसे तुरंत बात करें. अभिभावकों का कहना है कि हमने स्कूल के अधिकारियों और कई अन्य सरकारी अधिकारियों और मीडिया हाउसों से कई बार अनुरोध किया है, लेकिन कहीं से कोई अनुकूल प्रतिक्रिया नहीं मिली है.