पंजाब चुनाव परिणाम 2017 : कैप्टन के नेतृत्व में कांग्रेस की शानदार जीत

पंजाब की सत्ता से 10 साल तक दूर रहने के बाद कांग्रेस ने इस बार शानदार वापसी की और 117 सदस्यीय विधानसभा में 77 सीटें हासिल कर ली। इसके साथ ही राज्य में शिरोमणि अकाली दल-भाजपा गठबंधन की एक दशक पुरानी सरकार का पटाक्षेप हो गया तथा पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ रही आम आदमी पार्टी दिल्ली जैसा कोई करिश्मा दोहराने में विफल रही।

पंजाब चुनाव परिणाम 2017 : कैप्टन के नेतृत्व में कांग्रेस की शानदार जीत

चंडीगढ़ : पंजाब की सत्ता से 10 साल तक दूर रहने के बाद कांग्रेस ने इस बार शानदार वापसी की और 117 सदस्यीय विधानसभा में 77 सीटें हासिल कर ली। इसके साथ ही राज्य में शिरोमणि अकाली दल-भाजपा गठबंधन की एक दशक पुरानी सरकार का पटाक्षेप हो गया तथा पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ रही आम आदमी पार्टी दिल्ली जैसा कोई करिश्मा दोहराने में विफल रही।

सत्ता विरोधी लहर का पुरजोर फायदा उठाते हुए कांग्रेस ने कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में शिरोमणि अकाली दल-भाजपा गठबंधन को सत्ता से बेदखल कर दिया। कांग्रेस ने 77 सीटों पर जीत हासिल की जो दो तिहाई बहुमत से सिर्फ एक सीट कम है। शिअद की करारी हार को देखते हुए मुख्यमंत्री एवं अकाली दल के नेता प्रकाश सिंह बादल ने कहा कि वह रविवार को राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप देंगे।

अकाली दल ने 18 सीटों पर जीत हासिल की है। राज्य में पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ रही आप को 22 सीटें मिली हैं। अमरिंदर सिंह ने पटियाला सीट पर आप के उम्मीदवार बलबीर सिंह को 52,407 मतों के अंतर से पराजित किया। मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने लंबी सीट पर कांग्रेस के उम्मीदवार अमरिंदर सिंह को 22,770 मतों के अंतर से पराजित किया।

बादल ने कांग्रेस की जीत पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह को बधाई दी और उनको पूरे सहयोग देने का विश्वास दिलाया। उन्होंने कहा, ‘शिरोमणि अकाली दल पार्टी की हार के कारणों पर विचार करेगी।’ जीत से उत्साहित अमरिंदर सिंह ने पूरा समर्थन देने के लिए जनता का आभार प्रकट किया।

अमरिंदर सिंह ने कहा, ‘लोगों ने अकाली दल को सत्ता से बाहर करने के लिए मतदान किया, जिन्होंने पंजाब को बर्बाद किया। लोगों ने आप को खारिज कर दिया जो बवंडर की तरह आए थे। सुशासन देने और नशे की समस्या का मुकाबला करने को प्रतिबद्ध हैं तथा स्वास्थ्य एवं शिक्षा हमारी प्राथमिकता होगी।’ उप मुख्यमंत्री और शिअद प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने जलालाबाद सीट पर आप नेता भगवंत मान को 18,500 मतों के अंतर से पराजित किया।

विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए नवजोत सिंह सिद्धू ने भाजपा उम्मीदवार राजेश कुमार हनी को 42,809 मतों के अंतर से पराजित किया। आप के वरिष्ठ नेता एच.एस. फुल्का ने दाखा विधानसभा सीट पर शिअद उम्मीदवार मनप्रीत सिंह अयाली को 4169 मतों के अंतर से पराजित किया।

मत प्रतिशत के लिहाज से बात करें तो इस बार के चुनाव में कांग्रेस को 38.5 फीसदी मत मिले तो शिअद को 25.3 फीसदी और आप को 23.8 फीसदी मतों के साथ संतोष करना पड़ा। अकाली दल को 2012 में 56 और उसकी सहयोगी भाजपा को 12 सीटें मिली थीं। कांग्रेस ने 46 सीटें हासिल की थीं।

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.