शिमला बलात्कार मामला : हिरासत में एक आरोपी हत्या

हिमाचल प्रदेश के कोटखई में नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार के बाद उसकी हत्या के मामले के आरोपी एक नेपाली मजदूर की बुधवार रात को कोटखई पुलिस स्टेशन में एक अन्य आरोपी ने कथित तौर पर हत्या कर दी. हत्या के बाद कोटखई थाना के सभी कर्मचारियों का ट्रांफर कर दिया गया है और हिरासत में मौत को लेकर न्यायिक जांच की सिफारिश की गई है.इस मामले के सिलसिले में छह लोगों को गिरफ्तार किया गया था. 

शिमला बलात्कार मामला : हिरासत में एक आरोपी हत्या
कोटखई, शिमला और अन्य जगहों पर नाबालिग लड़की को न्याय दिलाने की मांग को लेकर विरोध जारी है.

शिमला : हिमाचल प्रदेश के कोटखई में नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार के बाद उसकी हत्या के मामले के आरोपी एक नेपाली मजदूर की बुधवार रात को कोटखई पुलिस स्टेशन में एक अन्य आरोपी ने कथित तौर पर हत्या कर दी. हत्या के बाद कोटखई थाना के सभी कर्मचारियों का ट्रांफर कर दिया गया है और हिरासत में मौत को लेकर न्यायिक जांच की सिफारिश की गई है.इस मामले के सिलसिले में छह लोगों को गिरफ्तार किया गया था. 

राजू और सूरज में हो गई तीखी बहस 

पुलिस ने बताया कि राजेन्द्र उर्फ राजू की जेल में नेपाली व्यक्ति सूरज के साथ तीखी बहस हो गई और हाथापाई हो गई. इसके बाद राजू ने कथित तौर पर सूरज का सिर दीवार पर दे मारा और उसकी मौत हो गई. दक्षिणी रेंज के आईजी जेड एच जैदी ने बताया कि सूरज ने बलात्कार की घटना का पूरा वृतांत सुनाया था और मुख्य आरोपी के रूप में पिकअप ड्राइवर राजू का नाम लिया था. 

चार जुलाई को छात्रा की हत्या कर दी गई थी

बता दें कि दसवीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा की हत्या चार जुलाई को बलात्कार के बाद कर दी गई थी. घटना से पहले पीड़िता ने दोनों आरोपियों में से एक आरोपी राजेन्द्र (राजू) से गाड़ी में लिफ्ट ली थी. पीड़िता का शव दो दिनों के बाद पास के हलील जंगल से बरामद किया गया था. 

पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए सड़कों पर लोग

कोटखई, शिमला और अन्य जगहों पर नाबालिग लड़की को न्याय दिलाने की मांग को लेकर विरोध जारी है और पुलिस पहले से ही जांच में सुस्ती को लेकर आलोचना का सामना कर रही है.बलात्कार की घटना पर जनाक्रोश की आशंका को लेकर कोटखई में अतिरिक्त पुलिस बलों को तैनात किया गया है.