close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

श्रीनगर के कई हिस्सों में कर्फ्यू जैसा प्रतिबंध, गिलानी-मीरवाइज़ और मलिक हिरासत में

जम्मू एवं कश्मीर में प्रशासन ने अलगाववादियों की ओर से आहूत प्रदर्शन को बेअसर करने के लिए शहर के कुछ हिस्सों में प्रतिबंध लगा दिया है. श्रीनगर के जिला मजिस्ट्रेट फारूक अहमद लोन ने बताया कि रैनावारी, खानयार, नौहटा, एम.आर. गंज, सफा कदाल, क्रालखुद और मैसूमा इलाकों में सीआरपीसी की धारा 144 के तहत प्रतिबंध जारी रहेंगे.

श्रीनगर के कई हिस्सों में कर्फ्यू जैसा प्रतिबंध, गिलानी-मीरवाइज़ और मलिक हिरासत में
अलगाववादी नेता मीरवाइज फारूक और सैयद अली शाह गिलानी. (फाइल फोटो)

श्रीनगर: जम्मू एवं कश्मीर में प्रशासन ने अलगाववादियों की ओर से आहूत प्रदर्शन को बेअसर करने के लिए शहर के कुछ हिस्सों में प्रतिबंध लगा दिया है. श्रीनगर के जिला मजिस्ट्रेट फारूक अहमद लोन ने बताया कि रैनावारी, खानयार, नौहटा, एम.आर. गंज, सफा कदाल, क्रालखुद और मैसूमा इलाकों में सीआरपीसी की धारा 144 के तहत प्रतिबंध जारी रहेंगे.

पुलिस और अर्धसैनिक दस्तों ने इन इलाकों में सभी वाहनों और पैदल आवाजाही पर प्रतिबंध लगा दिया है. अलगाववादियों ने कश्मीर घाटी में शुक्रवार की नमाज के बाद प्रदर्शन का आह्वान किया है. सैयद अली गिलानी, मीरवाइज उमर फारूक और यासिन मलिक समेत शीर्ष अलगाववादी नेताओं को प्रदर्शन में शरीक होने से रोकने के लिए हिरासत में रखा गया है.

मलिक को श्रीनगर सेंट्रल जेल में रखा गया है, वहीं गिलानी और मीरवाइज को शहर में उनके घर में ही नजरबंद रखा गया है. शहर में दुकानें, सार्वजनिक वाहन और अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे, जबकि सड़कों पर छिटपुट वाहनों की आवाजाही रही.

प्रतिबंध के कारण यातायात की समस्या के चलते बैंकों, डाक घरों और सरकारी कार्यालयों में भी काफी कर्मचारी नदारद रहे. हालांकि, प्रतिबंध का अमरनाथ यात्रा पर कोई असर नहीं पड़ा. अलगाववादियों द्वारा बुलाए गए विरोध प्रदर्शन के कारण घाटी के अन्य शहरों और कस्बों में भी जनजीवन पर असर पड़ा.