close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

फैंसी स्टोर में बना रखा था क्लीनिक, पति-पत्नी मिलकर कराते थे गर्भपात, अब हुए गिरफ्तार

जिला कलेक्टर के एस कंडासामी ने बताया कि पिछले दस साल से इस दंपति ने बहुत से गर्भपात किए. सैंकड़ों महिलाएं इस झोला छाप डॉक्टर की मरीज थीं.

फैंसी स्टोर में बना रखा था क्लीनिक, पति-पत्नी मिलकर कराते थे गर्भपात, अब हुए गिरफ्तार
पुलिस अधिकारी ने बताया कि यह पता लगाने के लिए जांच की जा रही है कि इस मामले में कोई एजेंट भी शामिल था या नहीं.

तिरूवन्नमलाई: तमिलनाडु के तिरूवन्नमलाई में एक 32 वर्षीय संदिग्ध झोला छाप महिला डॉक्टर को सैंकड़ों गर्भपात कराने के मामले में गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि झोला छाप डॉक्टर कविता ने दसवीं तक पढ़ाई की है और वह करीब एक दशक से ग्रामीण महिलाओं के गर्भपात करती थी. यहां वह एक फैंसी स्टोर को अपने क्लीनिक कार्यालय के तौर पर इस्तेमाल करती थी. इस महिला के पति को भी गिरफ्तार कर लिया गया है.

कालासपक्कम गांव की एक गर्भवती महिला के जरिए इस झोला छाप डॉक्टर का पर्दाफाश हुआ. यह महिला नियमित जांच के लिए सरकारी अस्पताल गयी थी लेकिन उसके बाद नहीं लौटी. बाद में पता चला कि इस महिला ने झोला छाप डॉक्टर के क्लीनिक में गर्भपात कराया था. पुलिस ने बताया कि छापे के दौरान गर्भपात क्लीनिक से सर्जरी में इस्तेमाल होने वाले चिकित्सा उपकरण और दवाइयां बरामद की गयीं.

 

जिला कलेक्टर के एस कंडासामी ने बताया, ‘‘पिछले दस साल से इस दंपति ने बहुत से गर्भपात किए. सैंकड़ों महिलाएं इस झोला छाप डॉक्टर की मरीज थीं. ये दोनों पति पत्नी एक गर्भपात के लिए करीब 12 हजार रूपये लेते थे.’’ इस क्लीनिक को फिलहाल सील कर दिया गया हैं. पुलिस अधिकारी ने बताया कि यह पता लगाने के लिए जांच की जा रही है कि इस मामले में कोई एजेंट भी शामिल था या नहीं.