close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

तमिलनाडु में भारी बारिश: सीएम पलानीस्वामी ने कहा- 'युद्ध स्तर' पर काम कर रही है सरकार

उपमुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री ने शहर के बाहरी क्षेत्रों में आर के नगर और पेरूनगालाथुर का दौरा किया.

तमिलनाडु में भारी बारिश: सीएम पलानीस्वामी ने कहा- 'युद्ध स्तर' पर काम कर रही है सरकार
भारी बारिश के बाद चेन्नई की सड़कों पर भरे पानी से गुजरते लोग. (IANS/3 Nov, 2017)

चेन्नई: तमिलनाडु में बारिश से उत्पन्न स्थिति से निपटने में अन्नाद्रमुक शासन की आलोचना के बीच मुख्यमंत्री के.पलानीस्वामी ने शुक्रवार (3 नवंबर) को शहर के विभिन्न हिस्सों और इसके उपनगरों का दौरा किया और कहा कि उनकी सरकार ‘‘युद्ध स्तर’’ पर काम कर रही है. उपमुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री ने शहर के बाहरी क्षेत्रों में आर के नगर और पेरूनगालाथुर का दौरा किया. उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘‘चेन्नई कॉरपोरेशन (लिमिट) और कांचीपुरम जिले में ऐसे निचले इलाकों की पहचान की गयी है जहां पानी भरा हुआ है. कर्मचारियों ने (यहां) युद्ध स्तर पर काम किया और भरे हुए पानी को हटाया.’’ पलानीस्वामी ने कहा, ‘‘लोगों ने मुझे जलभराव के मुद्दे का स्थायी समाधान निकालने के लिए कहा है.’’

उन्होंने कहा कि इस मुद्दे के समाधान के लिए सरकार के प्रयास के तहत शहर की जरूरतों के लिए जल निकास प्रणाली बनायी जा रही है और 386 किलोमीटर लम्बी इस प्रस्तावित प्रणाली के 300 किलोमीटर पर काम पूरा हो गया है. उन्होंने विस्तृत जानकारी दिये बगैर कहा कि जल्द ही इसका काम पूरा हो जायेगा. अन्नाद्रमुक नेता ने कहा कि पिछले तीन दिनों में चेन्नई में 36 सेंटीमीटर बारिश हुई.

सरकार ने शहर में जलभराव को रोकना सुनिश्चित करने के लिए ‘‘तेजी’’ के साथ काम किया. पलानीस्वामी ने कहा कि उनकी सरकार अच्छा काम कर रही है. उन्होंने कहा,‘‘ आपने देखा है कि बेंगलुरु और मुम्बई में कितना जलभराव हुआ है.’’ उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार बारिश से उत्पन्न स्थिति से निपटने में द्रमुक समेत विपक्ष की आलोचना का सामना कर रही है.

तमिलनाडु में बारिश: चेन्नई सहित 3 जिलों में बंद रहे स्कूल-कॉलेज, अबतक 8 लोगों की मौत

वहीं दूसरी ओर तमिलनाडु में चेन्नई और आस-पास के जिलों में रातभर हुई मूसलाधार बारिश से जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो गया है. मरीना बीच इलाके में भी 30 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई. चेन्नई, कांचीपुरम और तिरुवल्लूर जिलों में आज भी स्कूल तथा कॉलेज बंद रहे. यहां 31 अक्तूबर से स्कूल और कॉलेज बंद हैं. तमिलनाडु सरकार ने निजी कंपनियों से अपील की कि वह अपने कर्मचारियों को घर से काम करने की इजाजत दें. शहर में शुक्रवार (3 नवंबर) को सुबह से बारिश नहीं हुई है. हालांकि आसमान पूरी तरह बादलों से घिरा रहा.

बारिश से संबंधित नई घटना में मध्यम आयु वर्ग के एक किसान की करंट लगने से मौत हो गई. राज्य में 27 अक्तूबर को उत्तर पूर्वी मॉनसून के आने के बाद से बारिश से जुड़ी घटनाओं में मरने वालों की संख्या आठ हो गई है. वर्ष 2015 की तरह डेंगू के खतरे के फिर से पनपने के मद्देनजर अन्नाद्रमुक सरकार ने ऐसे खतरों के निराकरण के लिए तैयार रहने को कहा है.