VIDEO: बिना इंजन के ही पटरी पर 10 Km तक दौड़ गई अहमदाबाद-पुरी एक्सप्रेस

संबलपुर रेलवे डिविजन के तितलागढ़ स्टेशन पर ट्रेन को रोककर उसे दूसरी दिशा में ले जाने के लिए इंजन का छोर बदला जाता है.

VIDEO: बिना इंजन के ही पटरी पर 10 Km तक दौड़ गई अहमदाबाद-पुरी एक्सप्रेस
तितलागढ़ से केसिंगा की ओर ढलान होने की वजह से ट्रेन बिना इंजन के ही चलने लगी. (Video Grab)

भुवनेश्वर: अहमदाबाद-पुरी एक्सप्रेस में सफर कर रहे यात्री भीषण हादसे का शिकार होने से बच गए, जब ट्रेन बिना इंजन के ही कुछ किलोमीटर तक आगे बढ़ गई. दरअसल शनिवार (7 अप्रैल) रात 10 बजे तितलागढ़ स्टेशन पर ट्रेन के इंजन को बदलने की प्रक्रिया चल रही थी, लेकिन किसी वजह से रेलवे कर्मचारी डिब्बों के ब्रेक लगाना भूल गए. उसी दौरान ये घटना हुई. तितलागढ़ उड़ीसा की राजधानी भुवनेश्वर से करीब 380 किलोमीटर दूर है. संबलपुर रेलवे डिविजन के तितलागढ़ स्टेशन पर ट्रेन को रोककर उसे दूसरी दिशा में ले जाने के लिए इंजन का छोर बदला जाता है.

ईस्ट कोस्ट रेलवे के प्रवक्ता ने कहा, 'सभी यात्री सुरक्षित हैं और किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है. जब ट्रेन के इंजन को एक छोर से हटाकर उसे दूसरे छोर पर लगाया जा रहा था, उसी दौरान यह घटना हुई और कोच केसिंगा (संबलपुर रेलवे डिविजन के अंतर्गत) की ओर तेजी से बढ़ चला.' रेलवे सूत्रों के मुताबिक, रात करीब 10 बजे ट्रेन के कोच केसिंगा की ओर बढ़ने लगे और इसने बिना इंजन के करीब 10 किलीमोटीर तक की दूरी तय की जबतक कि एक हॉल्ट पर रोक नहीं लिया गया.

रेलवे प्रवक्ता ने कहा कि रेलवे कोच को पहले से सतर्क एक कर्मचारी ने पटरी पर पत्थर रखकर कोच को रोका और फिर उसे सुरक्षित हॉल्ट पर लाया गया. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि तितलागढ़ से केसिंगा की ओर ढलान होने की वजह से ट्रेन बिना इंजन के ही चलने लगी.

प्रवक्ता ने कहा कि इंजन बदलाव की मानक प्रक्रिया का पालन नहीं करने वाले रेलवे कर्मचारी को निलंबित कर दिया गया है. इतना ही नहीं संबलपुर के संभागीय रेलवे प्रबंधक (डिविजनल रेलवे मैनेजर) जयदीप गुप्ता ने इस घटना के उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए हैं. घटना के तुरंत बाद तितलागढ़ से एक इंजन को कोच को लाने के लिए भेजा गया.

(इनपुट एजेंसी से भी)