close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चेन्नई में जल संकट है जारी, अब केरल से होगी 20 लाख लीटर पानी की आपूर्ति

सरकार ने जोलारपेट्टई से रेलमार्ग द्वारा प्रतिदिन 1 करोड़ लीटर पानी लाने की योजना बनाई है.

चेन्नई में जल संकट है जारी, अब केरल से होगी 20 लाख लीटर पानी की आपूर्ति
चेन्नई को रोजाना 52.5 करोड़ लीटर पानी की जरूरत है. (प्रतीकात्मक फोटो)

चेन्नई: चेन्नई में जलसंकट को दूर करने के लिए तमिलनाडु सरकार की ओर से कुछ उपाय किये जा रहे हैं. मुख्यमंत्री पलानीस्वामी ने बैठक के बाद पत्रकारों को बताया कि चेन्नई में 52.5 करोड़ लीटर प्रतिदिन पानी की सप्लाई की जा रही है. सरकार ने जोलारपेट्टई से रेलमार्ग द्वारा प्रतिदिन 1 करोड़ लीटर पानी लाने की योजना बनाई है. केरल तमिलनाडु को रोज 20 लाख लीटर पानी भेजेगी.

मुख्यमंत्री पिनरई विजयन के कार्यालय की ओर से गुरुवार को यह जानकारी दी गई. इसके लिए तमिलनाडु सरकार ने आभार जताया है. तमिलनाडु के स्थानीय प्रशासन मंत्री एसपी वेलुमनी ने कहा है कि केरल सरकार के प्रस्ताव पर सरकार विचार कर रही है. चेन्नई को रोजाना 52.5 करोड़ लीटर पानी की जरूरत है. ऐसी खबर आ रही थी कि पानी की कमी से स्कूल और होटल बंद हो रहे हैं ऐसी खबर को गलत बताया है.  

उन्होंने यह भी कहा कि मुझे पानी की दो लॉरियां मिल रहीं हैं, ये भी गलत है. उन्होंने कहा कि मेरा घर बहुत बड़ा है और उसमें बहुत सारे लोग रहते हैं उनको पानी मुहैया कराना मेरी प्राथमिकता है. इसके अलावा डीएमके के सांसद ने संसद में प्रश्न काल के दौरान चेन्नई के जल संकट के मुद्दे को उठाया और केंद्र सरकार से अपील की इसे प्राकृतिक आपदा घोषित किया जाए.

आपको बता दें कि चेन्नई बीते 30 सालों के सबसे भीषण सूखे से गुजर रहा है. बारिश कम होने से पूंडी, चेम्बरमबक्कम, शोलावरम और रेड हिल्स  झीलें सूख चुकी हैं. भूजल स्तर में भी काफी गिरावट आई है. चेन्नई अथॉरिटी ने पेयजल की आपूर्ति 40% घटाई है. जिससे आईटी सेक्टर कंपनियों, होटलों और बहुमंजिला इमारतों में रहने वाले लोगों को परेशानी झेलनी पड़ रही है.