साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ ओवैसी ने लोकसभा में दिया विशेषाधिकार हनन का नोटिस

लोकसभा में आज साध्वी प्रज्ञा के गोडसे वाले बयान को लेकर जमकर हंगामा हुआ.

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ ओवैसी ने लोकसभा में दिया विशेषाधिकार हनन का नोटिस
ओवैसी ने साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ़ सख्त करवाई की मांग की.

नई दिल्ली: लोकसभा में आज साध्वी प्रज्ञा के गोडसे वाले बयान को लेकर जमकर हंगामा हुआ. विपक्षी दलों ने इस मामले पर सरकार को घेरने की पूरी कोशिश की. हालांकि सरकार ने उनके खिलाफ़ करवाई का हवाला देकर मामले को तूल देने से रोकने की कोशिश की. इस बीच,  एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ़ लोकसभा में विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया. उन्होंने कहा, "यह पहला मौका नहीं जब उन्होंने (प्रज्ञा ने) इस तरह का बयान दिया हो. मैंने स्पीकर को विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया है. देखिए क्या होता है." 

ओवैसी ने साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ़ सख्त करवाई की मांग की. ओवैसी ने साध्वी के उधम सिंह वाले तर्क को भी गलत बताया और कहा कि आप चाहें तो वो वीडियो देख सकते हैं. ओवैसी ने साध्वी को डिफेंस कमेटी से निकाले जाने की बीजपी की करवाई को दिखावा करार दिया.  

यहीं नहीं कांग्रेस पार्टी ने भी लोकसभा में साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ़ निंदा प्रस्ताव का नोटिस लोकसभा स्पीकर को सौंपा है. कांग्रेस के साथ साथ सभी यूपीए के घटक दलों ने भी इस निंदा प्रस्ताव के ड्राफ्ट पर हस्ताक्षर किया है. कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने निंदा प्रस्ताव का ड्राफ्ट तैयार किया. हालांकि इन सभी प्रस्तावों पर फाइनल फैसला लोकसभा स्पीकर को करना है.

देखें वीडियो:

बीजेपी ने कहा- साध्‍वी प्रज्ञा का बयान निंदनीय
साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर के नाथूराम गोडसे को देशभक्‍त करार देने संबंधी बयान पर मचे विवाद के बीच बीजेपी ने इस मामले पर अपना पक्ष रखते हुए कहा कि साध्‍वी प्रज्ञा के बयान का बीजेपी समर्थन नहीं करती. पार्टी ने कहा कि वे संसद के मौजूदा शीतकालीन सत्र में अब किसी चर्चा में शामिल नहीं होगी. बीजेपी के कार्यकारी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने कहा साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर का बयान निंदनीय है. बीजेपी इस तरह के बयान या विचारधारा का बिल्‍कुल समर्थन नहीं करती.

जेपी नड्डा ने कहा कि रक्षा की सलाहकारी कमेटी से साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर को हटा दिया गया है और इस सत्र में संसदीय पार्टी की बैठक में उनको शिरकत करने की अनुमति नहीं दी जाएगी. उधर, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि नाथूराम को देशभक्‍त की बात का समर्थन तो दूर हम इस तरह की सोच का भी समर्थन नहीं करते. हम महात्‍मा गांधी के आदर्शों पर चलने वाले लोग हैं. महात्‍मा गांधी के विचार हमेशा प्रासंगिक बने रहेंगे.