भारत को तीसरी दुनिया का देश कहा जाना तकलीफदेह है : अमिताभ बच्चन

सदी के महानायक अमिताभ बच्चन को भारत को विकासशील देशों की श्रेणी (थर्ड वर्ल्ड कंट्री) में रखे जाने से तकलीफ महसूस होती है. उन्हें उम्मीद है कि भारत जल्द ही एक विकसित राष्ट्र के रूप में जाना जाएगा. अमिताभ ने भारतीय अंतरिक्ष वैज्ञानिकों द्वारा हाल ही में अनजान आकाशगंगा के एक बहुत बड़े समूह (सुपरक्लस्टर) की पहचान किए जाने की तारीफ करते हुए कहा कि ज्ञान की देवी के नाम पर इससे 'सरस्वती' कहा जाना बिल्कुल सही है.

भारत को तीसरी दुनिया का देश कहा जाना तकलीफदेह है : अमिताभ बच्चन
अमिताभ ने भारतीय अंतरिक्ष वैज्ञानिकों द्वारा हाल ही में अनजान आकाशगंगा के एक बहुत बड़े समूह (सुपरक्लस्टर) की पहचान किए जाने की तारीफ की (file)

मुंबई : सदी के महानायक अमिताभ बच्चन को भारत को विकासशील देशों की श्रेणी (थर्ड वर्ल्ड कंट्री) में रखे जाने से तकलीफ महसूस होती है. उन्हें उम्मीद है कि भारत जल्द ही एक विकसित राष्ट्र के रूप में जाना जाएगा. अमिताभ ने भारतीय अंतरिक्ष वैज्ञानिकों द्वारा हाल ही में अनजान आकाशगंगा के एक बहुत बड़े समूह (सुपरक्लस्टर) की पहचान किए जाने की तारीफ करते हुए कहा कि ज्ञान की देवी के नाम पर इससे 'सरस्वती' कहा जाना बिल्कुल सही है.

बिग बी ब्लॉग में लिखे अपने विचार

बच्चन ने अपने ब्लॉग पर लिखा, 'भारतीय अंतरिक्ष वैज्ञानिकों के एक समूह ने एक आकाशगंगा की खोज की, जो उन्हें लगता है कि हमारे सूर्य से अरबों गुना बड़े आकार की है. यह अविश्वसनीय है और इसलिए इसे इसके अनुकूल नाम सरस्वती, ज्ञान की देवी, दिया गया है.'

'भारत को इस तरह से बुलाना तकलीफदेह'

उन्होंने कहा, 'भारत... विकासशील देश... तीसरी दुनिया का देश? इस तरह से बुलाना तकलीफदेह है. विश्वास और प्रार्थना है कि आगे आने वाले समय में यह विकासशील नहीं बल्कि विकसित हो जाएंगे और दुनिया में तीसरे से पहले पर आ जाएगा.'