LoC पर पाकिस्तान की नापाक करतूत, सीजफायर उल्लंघन में 3 जवान शहीद

रक्षा मंत्रालय (Defence Ministry)  के प्रवक्ता ने कहा, 'सूबेदार स्वतंत्र सिंह, नायक प्रेम बहादुर खत्री और राइफलमैन सुखबीर सिंह बहादुर ईमानदार सैनिक थे. सर्वोच्च बलिदान और कर्तव्य के प्रति समर्पण के लिए राष्ट्र हमेशा उनका ऋणी रहेगा.'

LoC पर पाकिस्तान की नापाक करतूत, सीजफायर उल्लंघन में 3 जवान शहीद
फाइल फोटो

जम्मू : जम्मू-कश्मीर (J&k) के पुंछ और राजौरी जिलों में नियंत्रण रेखा (LoC) पर पाकिस्तान की सेना (Pak Army) द्वारा किए गए संघर्ष विराम उल्लंघन में 3 भारतीय जवान शहीद हो गए. आधिकारिक सूत्रों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल देवेंद्र आनंद ने कहा, 'नायक प्रेम बहादुर खत्री और राइफलमैन सुखबीर सिंह शुक्रवार को पाकिस्तानी सैनिकों द्वारा राजौरी जिले के सुंदरबनी सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर की गई गोलीबारी में गंभीर रूप से घायल हो गए थे. दोनों घायल सैनिकों ने बाद में दम तोड़ दिया.'

इस बीच, गुरुवार को पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी में गंभीर रूप से घायल हुए सूबेदार (JCO) स्वतंत्र सिंह ने भी शुक्रवार को दम तोड़ दिया.

रक्षा मंत्रालय (Defence Ministry)  के प्रवक्ता ने कहा, 'सूबेदार स्वतंत्र सिंह, नायक प्रेम बहादुर खत्री और राइफलमैन सुखबीर सिंह बहादुर ईमानदार सैनिक थे. सर्वोच्च बलिदान और कर्तव्य के प्रति समर्पण के लिए राष्ट्र हमेशा उनका ऋणी रहेगा.'

इन दोनों स्थानों पर भारतीय सेना ने दुश्मन की गोलाबारी का कड़ा जवाब दिया.

ये भी पढ़ें- J&K: DDC चुनावों में खलल डालने के लिए पाकिस्तान ने रची ये खतरनाक साजिश

कश्मीर में गड़बड़ी फैलाने की कोशिश में पाकिस्तान
आपको बता दें कि लद्दाख में पिछले 8 महीन से भारत-चीन की सेनाएं आमने-सामने खड़ी हैं. इसका फायदा उठाकर पाकिस्तान LoC पर गड़बड़ी फैलाने की कोशिश में जुटा है. इसके लिए वह सीमा पर युद्ध विराम उल्लंघन (breaks ceasefire) के साथ-साथ आतंकियों को भी कश्मीर में भेजने की कोशिश कर रहा है. पिछले दिनों पाकिस्तान की ओर से भेजे गए ऐसे ही चार आतंकियों को सुरक्षाबलों ने नगरोटा एनकाउंटर में मार गिराया था. उनसे बड़ी संख्या में गोला बारूद भी बरामद हुआ था. 

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.