close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारत से डरा पाकिस्‍तान, LoC की निगरानी के लिए उठाया यह कदम

पाकिस्‍तान ने ‘संकट प्रबंधन प्रकोष्ठ’ (स्‍पेशल सेल) की स्थापना की है. शनिवार को एक मीडिया रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है.

भारत से डरा पाकिस्‍तान, LoC की निगरानी के लिए उठाया यह कदम
पाकिस्‍तान ने सीमा की निगरानी के लिए बनाया स्‍पेशल सेल. फाइल फोटो

इस्लामाबाद : जम्‍मू और कश्‍मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारत-पाकिस्‍तान के बीच तनाव की स्थिति बढ़ गई है. ऐसे में भारत की किसी भी संभावित कार्रवाई को लेकर पाकिस्‍तान डरा हुआ है. इसके तहत पाकिस्‍तान ने ‘संकट प्रबंधन प्रकोष्ठ’ (स्‍पेशल सेल) की स्थापना की है. शनिवार को एक मीडिया रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है.

 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मुहम्मद फैसल ने द एक्सप्रेस ट्रिब्यून के हवाले से बताया कि यह प्रकोष्ठ सभी हितधारकों को सीमा की स्थिति और कूटनीतिक संपर्कों से अवगत रखेगा. रिपोर्ट में कहा गया कि विदेश मंत्रालय में इस प्रकोष्ठ की स्थापना की गई है. यह पूरे हफ्ते बिना किसी ब्रेक के चालू रहेगा.

14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में पाकिस्तान आधारित जैश-ए-मोहम्मद द्वारा किए गए आत्मघाती हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे.  बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्‍तान के बीच के हालातों पर अमेरिका ने चिंता जाहिर की है. अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने शनिवार को कहा था कि पुलवामा हमले के बाद भारत और पाकिस्‍तान के बीच हालात काफी खतरनाक हो गए हैं. यह बेहद ही खराब स्थिति है. हम इसे खत्‍म होते देखना चाहते हैं.

पुलवामा हमले के बाद भारत-पाक के बीच हालात खतरनाक, कुछ बड़ा करेगा भारत : डोनाल्'€à¤¡ ट्रंप
फाइल फोटो

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा कि भारत ने करीब 50 जवानों को खोया है, मैं इसे समझ सकता हूं. बड़ी संख्‍या में लोग इस बारे में बातचीत कर रहे हैं. उन्‍होंने आतंकवाद पर निशाना साधते हुए कहा कि भारत इस मुद्दे पर कुछ बड़ा और शक्तिशाली कदम उठाने की ओर सोच रहा है. भारत पाकिस्‍तान के आतंकियों पर कार्रवाई करना चाहता है. भारत और पाकिस्‍तान के बीच समस्‍याएं बढ़ी हैं.

अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने साफतौर पर कहा कि हमने पाकिस्‍तान को दी जाने वाली 1.3 अरब डॉलर की सहायता राशि को बंद दिया है, हमें इसे पाकिस्‍तान को देना था. हम शायद पाकिस्‍तान के साथ कुछ बैठक करें. पाकिस्‍तान ने अमेरिका का फायदा उठाया है.
(इनपुट भाषा)