संसदीय कमेटी की फटकार पर इंडिगो का तर्क, 'ज्यादातर कर्मचारी छोटे शहरों के, नहीं आती अंग्रेजी'

 इंडिगो ने अपने कर्माचरियों द्वारा यात्रियों से अभद्र व्यवहार किए जाने के लिए उनकी पृष्ठभूमि को जिम्मेदार बताया. 

संसदीय कमेटी की फटकार पर इंडिगो का तर्क, 'ज्यादातर कर्मचारी छोटे शहरों के, नहीं आती अंग्रेजी'
ससंदीय कमेटी ने इंडिगो को लगाई फटकार, 'अपने कर्मचारियों को ट्रेनिंग देने की जिम्‍मेदारी एयरलाइन कंपनी की होती है.कर्मचारी यात्रियों के साथ जानबूझ कर उलझते हैं'

नई दिल्लीः संसदीय कमेटी ने किफायती विमानन सेवाएं देने वाली कंपनी इंडिगो एयरलाइंस को उसके कर्मचारियों के यात्रियों से अभद्र एवं असभ्य व्यवहार के लिए शुक्रवार को जमकर फटकार लगाई. कमेटी ने इस तरह के व्यवहार को इंडिगो की संस्थागत दिक्कत बताते हुए उसे उपभोक्ताओं के अनुकूल व्यवहार अपनाने के लिए कहा. लेकिन संसद की कमेटी के सामने एयरलाइन ने तर्क दिया वह हैरान करने वाला था. इंडिगो ने अपने कर्माचरियों द्वारा यात्रियों से अभद्र व्यवहार किए जाने के लिए उनकी ग्रामीण-कस्बाई पृष्ठभूमि को जिम्मेदार बताया. एयरलाइंस का कहना था कि जिन कर्मचारियों को ग्राउंड स्टाफ पर लगाया जाता है उन्हें अंग्रेजी नही आने के कारण वह पैसेंजर्स से बदतमीजी कर बैठते है. 

आपको बता दें कि संसद की स्थायी कमेटी (परिवहन, पर्यटन और संस्कृति) की यह रिपोर्ट ऐसे समय आयी है जब पिछले साल इंडिगो के कर्मचारी द्वारा एक यात्री के साथ मारपीट करने का वीडियो वायरल हुआ था. राज्यसभा में पेश रिपोर्ट में कमेटी ने कहा, ‘‘कमेटी को लगता है कि यह दिक्कत व्यक्तिगत नहीं होकर संस्थागत है. इंडिगो जैसे संस्थान को यात्रियों के साथ व्यवहार करने के लिए उनके अनुकूल तरीका अपनाना चाहिए.’’ इस बाबत पूछे जाने पर केंद्रीय नागर विमानन मंत्री अशोक गजपति राजू ने कहा, ‘‘हर किसी को अच्छे से व्यवहार करना चाहिए.’’

इंडिगो का तर्क
कमेटी की फटकार के बाद एयरलाइन की ओर से तर्क दिया गया कि उनके यहां जो कर्मचारी रखे जाते हैं वह छोटे शहरों और कस्‍बों से आते हैं. एयरलाइन ने कहा कि अंग्रेजी की सही जानकारी नहीं होती जिस कारण वह यात्रियों की बात समझ नहीं पाते और बदतमीजी कर बैठते हैं.

यह भी पढ़ेंः ममता विमान दुर्घटना: इंडिगो एयरलाइंस ने कहा-विमान में पर्याप्त ईंधन था

संसदीय कमेटी को तर्क पर आपत्ति
इंडिगों के इस तर्क पर भी संसदीय कमेटी ने आपत्‍ति जताई है. कमेटी ने कहा है कि यह कहना गलत होगा कि छोटे शहरों के लोगों को अंग्रेजी नहीं आती और इस कारण वो यात्रियों के साथ दुर्व्यवहार कर जाते हैं. अपने कर्मचारियों को ट्रेनिंग देने की जिम्‍मेदारी एयरलाइन कंपनी की होती है. लगातार शिकायतें मिल रही है, कर्मचारी यात्रियों के साथ जानबूझ कर उलझते हैं, जिससे यात्रियों की फ्लाइट छूट जाए.

इंडिगो कर्मी ने यात्री से की थी हाथापाई
दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर 8 नवंबर को इंडिगो एयरलाइंस के स्टाफ ने एक यात्री को कोच में सवार होने से रोका और हाथापाई की थी. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गया था. यात्री विनय कटयाल चेन्नई से आए थे और मैदानी स्टाफ किसी बात पर उनसे उलझ गया. वीडियो में दोनों पक्ष एक दूसरे से उलझते नजर आए. बाद में इस मामले को लेकर इंडिगो एयरलाइंस ने भी मांफी मांग थी. इंडिगो ने कहा था कि घटना को लेकर माफी मांगते हैं और विश्वास दिलाते हैं उनके साथ हाथापाई करने वाले स्टाफ को टर्मिनेट किया जाएगा. 

रामचंद्र गुहा ने भी की थी दुर्व्यवहार की शिकायत
जाने माने इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने रविवार (26 नवंबर) को ट्विटर पर इंडिगो के कर्मचारियों के दुर्व्यवहार की शिकायत की थी. गुहा ने लिखा, ‘‘यह तीसरी बार हुआ है. मुझे बिन उकसाये इंडिगो के कर्मचारियों के दुर्व्यवहार का सामना करना पड़ा है. अलग लोग, अलग हवाई अड्डे, एक ही एयरलाइन. निश्चित तौर पर दुखद.’’ उन्होंने आगे कहा कि वह सामान्यत: ट्विटर का इस्तेमाल उपभोक्ता शिकायतों को सुलझाने के माध्यम के तौर पर नहीं करते हैं, लेकिन उन्हें ऐसा करना पड़ा क्योंकि एक ही सप्ताह के भीतर तीसरी बार एक ही एयरलाइन के कर्मचारियों ने दुर्व्यवहार किया है. उन्होंने कहा, ‘‘मित्रों और परिजनों ने भी कहा है कि दुर्व्ययवहार करना इंडिगो की आदत हो गयी है.’’ 

पीवी सिंधु के साथ फ्लाइट में बदसलूकी
मशहूर बैडमिंटन प्लेयर पीवी सिंधु के साथ इंडिगो फ्लाइट में बदसलूकी की शिकायत की थी. सिंधु के साथ ये घटना मुंबई की यात्रा के दौरान घटी. उन्होंने इस बात को 4 नवंबर को ट्विटर पर शेयर किया. रियो ओलिंपिक में सिल्वर मैडल जीतने वाली सिंधु ने इस मुद्दे को उठाते हुए लिखा, मैं क्षमा चाहती हूं, लेकिन मेरी मुंबई की ये यात्रा बहुत बुरी रही. मैं जब 6E 608 फ्लाइट से मुंबई की यात्रा पर थी तो Ground staff (skipper) का व्यवहार मेरे प्रति बहुत ही बुरा और खराब था.

यह भी पढ़ेंः पीवी सिंधु के समर्थन में उतरे उनके पिता, इंडिगो पर लगाए आरोप

सिंधु ने अपनी पोस्ट में बदतमीजी करने वाले शख्स का नाम अजितेश बताया है. सिंधु ने लिखा, उस मेंबर को फ्लाइट की एयर होस्टेस आशिमा ने समझाने की भी कोशिश की. एयर होस्टेस ने उससे कहा कि वह अपना व्यवहार पैसेंजर खास कर मेरे साथ सही तरीके से पेश आए तो उसने उसके साथ भी वैसा ही व्यवहार किया. मैं ये देखकर देखकर दंग रह गई. मैं ये कहना चाहती हूं कि अगर इस तरह के कर्मचारी इतनी प्रतिष्ठित एयरलाइंस में काम करेंगे तो ये एयरलाइन अपनी प्रतिष्ठा को मिट्टी में मिला लेगी. सिंधु ने इस घटना को लेकर एक के बाद एक तीन ट्वीट शेयर किए. सिंधु ने एयरलाइन को संबाेधित करते हुए लिखा कि आप प्लीेज मिस आशिमा से पूछिए वह पूरे मामले की जानकारी आपको विस्तार से देंगीं.

(एजेंसी इनपुट के साथ)