close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इस धर्म में गर्लफ्रेंड बनाने और बच्चे पैदा करने की मिलेगी विशेष ट्रेनिंग

आपने कभी सोचा भी नहीं होगा कि समाज के लोग ही कहेंगे कि आप अपने महिला मित्र के सामने जाने से पहले यह सारी तैयारियां कर ले. उसे प्रभावित कर अपनी मुलाकात को शादी तक ले जाएं. लेकिन अब यह जल्द ही हो रहा है. 

इस धर्म में गर्लफ्रेंड बनाने और बच्चे पैदा करने की मिलेगी विशेष ट्रेनिंग
.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

मुंबई: आपने कभी सोचा भी नहीं होगा कि समाज के लोग ही कहेंगे कि आप अपने महिला मित्र के सामने जाने से पहले यह सारी तैयारियां कर ले, उसे प्रभावित कर अपनी मुलाकात को शादी तक ले जाएं. लेकिन अब यह जल्द ही हो रहा है वह पारसी(Parsi) समुदाय में क्योंकि समुदाय जनसंख्या कम है. पारसी(Parsi) कम्युनिटी ने तीन एक्सपर्ट लोगों को युवाओं को ट्रेनिंग देने के लिए एक ट्रेनिंग सेशन का आयोजन जल्द ही करने वाली है. जिसमें युवाओं को अपने महिला मित्रों को प्रभावित करने के लिए टिप्स भी दिए जाएंगे. सरकार के जरिए चलाई जा रही जियो पारसी(Parsi) योजना के तहत पिछले 3 साल में 200 बच्चे जन्म लिए हैं.

लेकिन अभी भी जनसंख्या महज 57 हजार ही है. अब पारसी(Parsi) युवाओं को लडकियों से मिलने या किसी भी डेट पर जाने से पहले क्या करना चाहिए इसकी ट्रेनिंग देने की तैयारी सहज़ाद और पर्ल तिरंदाज ने की है. 22 सितंबर के मुंबई के ताडदेव में इसकी पारसी(Parsi) युवाओं को अपने महिला मित्रों से कैसे मिले कैसे बात करें और उन्हें कैसे प्रभावित करें इस बात की ट्रेनिंग भी देंगे. 

शहजाद यह कहते हैं कि हम किसी को प्रभावित या दूसरे शब्दों में कहें कि अपनी तरफ आकर्षित करने के लिए तो नहीं लेकिन एक सहज भाव के लिए जरूर ट्रेनिंग देंगे. यह बात साफ है कि जिस बात को लेकर यह ट्रेनिंग दी जा रही है. उसका भी यही है की पारसियों की जनसंख्या बढ़े वह कम से कम शादी के बंधन में बंधे.

क्योंकि आमतौर पर यह महसूस किया गया है कि बड़े उम्र में वह शादी करते हैं जिसके चलते आगे उनकी जनसंख्या बढ़ने में काफी दिक्कत हो रही है. इसी बात को लेकर सरकार की तरफ से जियो पारसी(Parsi) स्कीम शुरू की गई थी, इसी का अगला चरण पारसी(Parsi) युवाओं को इस तरह की ट्रेनिंग दी जा रही है जिससे वह अपने भविष्य के लिए संगी साथी चुनने में अपनी रुझान दिखाएं. 

Image

इसमें कुछ खास टिप्स भी दिए जाने की उम्मीद है.

1) टिप्स में मूलता युवाओं को यह ध्यान रखना होगा कि ज्यादा से ज्यादा समय अपने संगी-साथी के साथ बिताएँ . 

2) फिट रहें , शरीर पर ध्यान दें और सुडौल बनाकर रखें . 

3) महिला मित्र से मिलते समय फूल जरूर रखें और उसे फूल जरूर भेंट भी करें,

3) उसके मूड का ख्याल रखें,देर रात को पार्टी में रुकना चाहती है तो उसके साथ रुके घर पर मां इंतजार कर रही है ऐसा ना कहें . 

4) बाहर अगर महिला मित्र के साथ घूम रहे हैं तो बार-बार मां का जिक्र और बार-बार मां को फोन ना करेंं,

5) माता पिता और अपने मित्रों के बीच एक स्वस्थ माहौल पैदा करें,

6) लड़की के सामने जाने से पहले अच्छी तरह अपने को ग्रूम करें और फैशन के ही कपड़े पहने,

7) ज्यादा पुरानी बातों और पसंदो के अलावा नए और आधुनिक पसंद पर भी ध्यान दें,

इन सब के अलावा खानपान सहित और आचार व्यवहार के भी टिप्स दिए जाने की उम्मीद है . 

जियो पारसी(Parsi) कार्यक्रम के जरिए पारसी(Parsi) संस्थान की तरफ से भरपूर कोशिश की जा रही है. अल्पसंख्यक मंत्रालय के जरिए सरकार आईबीएफ सिस्टम और जन्म के दूसरे उपायों को अपनाने के लिए उन्हें प्रोत्साहित कर रही है. इसके अलावा आर्थिक सहायता के जरिए भी इस दिशा में भरपूर मदद कर रहे हैं. 

डॉक्टरी सहूलियत के लिए 15 ‌लाख रुपए देती है. बच्चे के जन्म के बाद हर महीने 4 हजार रुपए लालन पालन के लिए देती है. इस कार्यक्रम के चलते संख्या में कुछ इजाफा तो हुआ है लेकिन अभी भी चुनौतियाँ है.