close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

EXCLUSIVE: एयर स्ट्राइक में 'मिराज 2000' के जरिए की गई बमबारी को दिया गया था एक खास 'कोड वर्ड'

27 फरवरी को पाकिस्तानी वायु सेना के हमले को नाकाम बनाने के लिए विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की 51 स्क्वॉड्रन को यूनिट प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जाएगा. 

EXCLUSIVE: एयर स्ट्राइक में  'मिराज 2000' के जरिए की गई बमबारी को दिया गया था एक खास 'कोड वर्ड'
(प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली: भारतीय वायुसेना (Indian Airforce) ने बालाकोट (Balakot) एयर स्ट्राइक (Air Strike) को लेकर बड़ा खुलासा किया है. बालाकोट में आतंकी कैंप पर जिन 'मिराज 2000' (Mirage 2000) के जरिए बम गिराए गए थे, इस बमबारी को एक खास नाम दिया गया था. भारतीय वायु सेना के मुताबिक इसे मिशन 'स्पाइस' नाम दिया गया था. 

ऐसा इसलिए क्योंकि 'मिराज 2000' स्पाइस मिसाइल ले के जा रहे थे. इन्हीं स्पाइस मिसाइल ने आतंकी कैंप को टारगेट किया था. 

बालाकोट के शूरवीरों को किया जाएगा सम्मानित
स्क्वॉड्रन लीडर मिन्टी अग्रवाल की 601 सिग्नल यूनिट को भी बालाकोट एयर स्ट्राइक में उनकी भूमिका और 27 फरवरी को पाकिस्तान द्वारा किए गए हवाई हमले को विफल करने के लिए यूनिट प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया. 

वहीं नंबर 9 स्क्वॉड्रन जिसके मिराज 2000 लड़ाकू विमान ने 'ऑपरेशन बंदर' के दौरान 26 फरवरी को बालाकोट में हवाई हमले किए थे, को भी यूनिट प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया.

27 फरवरी को पाकिस्तानी वायु सेना के हमले को नाकाम बनाने के लिए विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की 51 स्क्वॉड्रन को यूनिट प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जाएगा. 

गौरतलब है कि 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर जैश ने आतंकी हमला किया था. इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. इस हमले के 13 दिन बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर आतंकी कैंप को निशाना बनाया था. हमले से बौखलाए पाकिस्तान ने दूसरे दिन भारतीय सीमा में घुसने की थी लेकिन भारतीय वायुसेना के जाबांजों ने उन्हें खदेड़ दिया था.