close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

डेरा प्रमुख के करीबी का खुलासा- ''राम रहीम को छुड़ाना था, चाहे कितनी ही हिंसा क्यों न फैलानी पड़े''

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के करीबी माने जाने वाले पवन इंसा ने गुरमीत राम रहीम और हनीप्रीत से जुड़े बड़े खुलासे किए हैं.

डेरा प्रमुख के करीबी का खुलासा- ''राम रहीम को छुड़ाना था, चाहे कितनी ही हिंसा क्यों न फैलानी पड़े''
पंचकूला हिंसा के लिए हनीप्रीत ने पहुंचाए थे पैसे (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के करीबी माने जाने वाले पवन इंसा ने गुरमीत राम रहीम और हनीप्रीत से जुड़े बड़े खुलासे किए हैं. बलात्कार मामले में सीबीआई की अदालत का फैसला आने से पहले ही राम रहीम को किसी भी हालत में कोर्ट से फरार कर ले जाने की प्लानिंग की जा चुकी थी, फिर चाहे इसके लिए पंचकूला में कितनी ही हिंसा और नुकसान क्यों न करना पड़े. इस सब में हनीप्रीत ने भी बड़ी भूमिका निभाई थी.

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो, पवन इंसा ने पूछताछ में बताया कि 17 अगस्त को डेरा प्रबंधन की गुप्त मीटिंग हुई थी. इसमें 45 सदस्यीय कमिटी के अधिकतर सदस्य मौजूद थे. इस बैठक में ही 25 अगस्त को आने वाले सीबीआई के फैसले के बाद डेरा प्रमुख को छुड़ा कर ले जाने की योजना बनाई गई थी. इसी के तहत पंचकूला में हिंसा के लिए प्लान बनाया गया था.

पवन ने बताया कि डेरा के पैसों का पूरा हिसाब-किताब हनीप्रीत ही रखती थी. उसी ने पंचकूला में हिंसा फैलाने के लिए कई जगह रुपयों की सप्लाई करवाई थी.

ये भी सामने आ रहा है कि पुलिस को फरार चल रहे आदित्य इंसा और महेंद्र के बारे में भी सुराग मिला है. आदित्य के गुजरात के भुज या फिर महाराष्ट्र के फलटण में छिपे होने की बात कही जा रही है. बताया जा रहा है कि पवन और महेंद्र पंचकूला में हिंसा के बाद कुछ समय तक साथ रहे थे, जिसके बाद पकड़े जाने के डर से दोनों अलग-अलग जगह भाग गए और लगातार अपनी लोकेशन बदल रहे हैं.

हनीप्रीत के पकड़े जाने की जानें पर्दे के पीछे की पूरी कहानी

गौरतलब है कि पवन इंसा को हरियाणा पुलिस ने 20 नवंबर को पंजाब में लालरु के पास से पकड़ा था. वह दो महीने से भी अधिक समय से फरार चल रहा था. पवन इंसा पंचकूला में हिंसा भड़काने के आरोपियों में से एक है.