चीनी बैंकों का कर्ज चुकाने में नाकाम अनिल अंबानी की ये हो गई हालत

अनिल अंबानी ने 3 चीनी बैंकों से 700 मिलियन डॉलर का कर्ज लिया है. जिसे अनिल चुका नहीं पा रहे हैं. इतना ही नहीं लंदन में केस लड़ रहे वकीलों की फीस देने के लिए उन्होंने घर की ज्वैलरी भी बेच दी है. 

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Sep 26, 2020, 18:15 PM IST

मुंबई: एक दौर था जब अनिल अंबानी (Anil Ambani) अपने बड़े भाई मुकेश अंबानी को टक्कर देने चले थे. बड़े-बड़े प्रोजेक्ट्स का ऐलान किया. यहां तक कि 3 चीनी बैंकों से 700 मिलियन डॉलर का कर्ज ले डाला और अब आलम ये है कि लंदन की हाई कोर्ट में चल रहे इस मुकदमे में उन्होंने कहा कि, 'मेरे पास इतने भी पैसे नहीं हैं कि अपना रोजमर्रा का खर्च चला सकूं, वो भी घरवाले उठा रहे हैं. केवल एक कार का इस्तेमाल करके आम आदमी की तरह रहे हैं.'

1/9

कोर्ट में गवाही के दौरान कबूली बर्बादी की बात

गलत बिजनेस फैसलों के चलते अनिल अंबानी की बर्बादी की कहानियां यूं तो सोशल मीडिया पर पिछले कुछ सालों से चल रही थीं. लेकिन अब खुद अनिल अंबानी ने इसे कबूल किया है, तब जाकर लोगों ने इसे सच माना है. लंदन की कोर्ट की सुनवाई में अनिल अंबानी ने ऑनलाइन ही वीडियो चैट से गवाही दी. ऐसे में विपक्ष यानी चीनी बैंकों का वकील भी बेहद शातिर दिमाग था, उसने ऐसे ऐसे सवाल किए कि अनिल अंबानी कई बार फंसते हुए दिखे.

2/9

दिवालिया घोषित होने के बाद बैंकों ने किया कोर्ट का रुख

पहले ये जान लें कि 2012 में अनिल अंबानी की निजी गारंटी के आधार पर रिलायंस कॉम ने 3 चीनी बैंकों से 700 मिलियन डॉलर का कर्जा लिया था. इन तीन बैंकों के नाम हैं, इंडस्ट्रियल एंड कॉमर्शियल बैंक ऑफ चाइना लिमिटेड (मुंबई शाखा), एक्जिम बैंक ऑफ चाइना और चाइना डेवलपमेंट बैंक. बाद में जब अनिल अंबानी की कंपनी दिवालिया घोषित हो गई तो चीनी बैंक कोर्ट में चली गईं. 22 मई 2020 के लंदन हाई कोर्ट के एक आदेश के मुताबिक जब अनिल अंबानी 7.17 मिलियन डॉलर यानी 5281 करोड़ रुपये का भुगतान 12 जून तक नहीं कर पाए तो कोर्ट ने 29 जून को आदेश दिया कि अनिल अंबानी दुनिया भर में फैली अपनी उन सम्पत्तियों का खुलासा करें, जिनकी कीमत 1 लाख डॉलर यानी 74 लाख रुपये से ज्यादा है. उन्हें उन सम्पत्तियों में सभी हिस्सेदारों की जानकारी भी देनी थी. इसके अलावा उन्हें पिछले 2 साल का क्रेडिट कार्ड का स्टेटमेंट भी जमा करने को कहा गया था.

3/9

खर्च चलाने के लिए बेटे ने दिया लोन

जज और चीनी बैंकों के वकील भी शुक्रवार को अनिल अंबानी के साथ इस वीडियो चैट में पूछताछ के लिए काफी तैयारी से आए थे. पूरे 3 घंटे तक अनिल अंबानी पर एक के बाद एक सवाल दागे गए. उनसे पूछा गया कि आप तो इतनी लैविश लाइफ जीते हो, आपकी शान-शौकत के बारे में तो मीडिया तमाम रिपोर्ट छापते रहे हैं. इस पर अनिल अंबानी ने कहा कि ये सब खबरें मीडिया ने महज अंदाजे से बढ़ा-चढ़ा कर लिखी हैं, उन्होंने तो ये तक कह डाला कि उन्हें तो खर्च चलाने के लिए अपने बेटे तक से लोन लेना पड़ा है.

4/9

शर्मिंदगी से बचने के लिए दायर की याचिका, कोर्ट ने की खारिज

अनिल अंबानी की ये पेशी रूल 71 के तहत हुई है, जिसमें जज कर्ज ना चुकाने वाले से सीधे कोर्ट में तलब करता है. इससे पहले अनिल अंबानी ने एक एप्लीकेशन कोर्ट को दी थी कि अगर उनकी पेशी सार्वजनिक हुई तो उनके लिए निजी तौर पर ये काफी शर्मिंदगी भरा होगा, इसलिए उनकी पेशी को सार्वजनिक ना किया जाए, लेकिन उनकी एप्लीकेशन को खारिज कर दिया गया. जैसे ही अंबानी ने ये कहा कि उनकी नेट वर्थ नेगेटिव है, तो चीनी बैंकों के वकील ने उनके शाही रहन-सहन के बारे में बोलना शुरू कर दिया.

5/9

क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट पर कोर्ट ने उठाए सवाल

सबसे पहले तो यही आरोप था कि जो कोर्ट में जो अनिल अंबानी की सम्पत्तियों की सूची दी गई, वो पूरी नहीं है. दूसरे उसने अनिल अंबानी का क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट का हवाला देकर हैरोड्स (Harrods), डोल्स एंड गब्बाना (Dolce and Gabbana) और हार्वे निकोलस (Harvey Nichols) में उसके इस्तेमाल के बारे में पूछा तो अनिल अंबानी का जवाब था कि, ये शॉपिंग मेरी मां ने की है. जब ये पूछा गया कि ताजा क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट क्यों नहीं दिया, तो उनका जवाब था मैंने अपने क्रेडिट कार्ड को इस्तेमाल नहीं किया.

6/9

'मेरी लैविश लाइफ स्टाइल मीडिया के दिमाग की उपज'

उसके बाद चीनी बैंकों के वकील बंकिम ठंकी ने उस यॉट के बारे में पूछा, जिसके बारे में कहा जाता है कि उन्होंने अपनी पत्नी टीना अंबानी को उनके जन्मदिन पर उपहार में दिया था. अनिल अंबानी का जवाब था, कि वो सी-सिक थे, और कई सालों से परिवार ने उस यॉट का इस्तेमाल नहीं किया है. उन्होंने अपनी 61 साल की उम्र और अनुशासित लाइफ स्टाइल के बारे में बताते हुए फिर ठीकरा मीडिया के सर फोड़ दिया, कहा कि वो ना तो ड्रिंक करते हैं और ना ही स्मोक, मेरी लैविश लाइफ स्टाइल मीडिया के दिमाग की उपज है.

7/9

मां से लिया अरबों का लोन

अनिल ने कोर्ट को ये भी बताया कि उन्होंने अपनी मां से 5 अरब रुपये का लोन लिया है, तो वकील ने उनसे कहा कि वो लोन की शर्तें बताए, लेकिन अनिल ने उनकी जानकारी होने से मना कर दिया. कोर्ट को ये भी पता चला कि अनिल ने अपने बेटे अनमोल से भी कुछ कर्ज ले रखा है, वो भी करोड़ों में है. अंबानी से उनके आर्ट वर्क के बारे में भी पूछा गया, वो अपने उसी बयान पर अड़े रहे कि मेरे पास केवल एक ही आर्टवर्क पीस है. ऐसे में उनसे टीना और अनिल अंबानी फाउंडेशंस की दुनिया भर में नीलामी के लिए मशहूर कंपनी क्रिस्टी के साथ आयोजित की गईं. आर्ट एक्जीबीशंस के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वो एक सदभावना फाउंडेशन का हिस्सा हैं, जो उनकी पत्नी टीना अंबानी का है. इस पर भी वकील ने आरोप जड़ा कि कर्ज देने वाले उसे ले ना सकें, इसलिए पत्नी के नाम कर दी गई हैं.

8/9

मुकेश अंबानी के प्रॉपर्टी में रहते हैं अनिल

चीनी बैंकों के वकील को अनिल अंबानी की नीयत पर शक था, वो बार-बार पूछता रहा कि क्या आप वाकई कोर्ट की मदद करना चाहते हैं? क्या आपने अपनी सारी सम्पत्तियों का खुलासा कर दिया है? वकील के पूछने पर अनिल ने ये भी बताया कि वो एक ऐसी बिना किराए की प्रॉपर्टी में रहते हैं, जो मुकेश अंबानी की है. वकील ने इस बात पर भी सवाल उठाया कि जब अनिल अंबानी के पास पैसे नहीं हैं तो लंदन में इतने बड़े और महंगी फीस चार्ज करने वाले वकीलों की इतनी बड़ी टीम कैसे हायर कर ली? उनकी फीस का करोड़ों रुपये कौन देगा? तब अनिल अंबानी ने बताया कि उन्होंने लीगल फीस भरने के लिए अपने सारे जेवर बेच दिए हैं, कुल 9.9 करोड़ रुपए की ज्वैलरी उन्हें बेचनी पड़ी है.

9/9

आगे फीस देने के लिए नहीं हैं पैसे

उन्होंने ये भी बताया कि उनके पास अब आगे देने के लिए पैसे भी नहीं है, उन्होंने ये भी कहा कि उनके पास केवल एक कार है, जबकि मीडिया खबरें चलाती है कि मेरे पास रॉल्स रॉयस है. अनिल अंबानी की इस गवाही की खबर जब से आई है, सोशल मीडिया पर इसकी चर्चा हो रही है.