Zee Rozgar Samachar

#IndiaKaArth: संस्‍कृति का महाकुंभ, सभ्‍यता और परंपरा के 'अर्थ' को कीजिए महसूस, देखिए PICS

'अर्थ' (Arth: A Culture Fest) भारत की मिट्टी की महक, परंपरा और विरासत, इतिहास, कला और संस्‍कृति की खुशबू को महसूस करने वाला भारत का पहला बहु-क्षेत्रीय संस्कृति का त्‍योहार है.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Feb 21, 2020, 14:51 PM IST

नई दिल्‍ली: दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्‍टेडियम में 'अर्थ' (Arth: A Culture Fest) की शुक्रवार को शुरुआत हो गई. अर्थ फेस्टिवल 3 दिन (21, 22 और 23 फरवरी) तक चलेगा. इस तीन दिवसीय फेस्टिवल में आपको भारत की संस्‍कृति की झलक दिखेगी. 'अर्थ' (Arth: A Culture Fest) भारत की मिट्टी की महक, परंपरा और विरासत, इतिहास, कला और संस्‍कृति की खुशबू को महसूस करने वाला भारत का पहला बहु-क्षेत्रीय संस्कृति का त्‍योहार है.

1/6

राज्‍यसभा सांसद सुभाष चंद्रा

राज्‍यसभा सांसद सुभाष चंद्रा ने दीप प्रज्वलित कर 'अर्थ' (Arth: A Culture Fest) की शुरुआत की.

2/6

सुधीर चौधरी

ज़ी न्यूज के एडिटर इन चीफ सुधीर चौधरी ने भी 'अर्थ' (Arth: A Culture Fest) फेस्टिवल की शुरुआत करने के लिए दीप प्रज्वलित किया.

3/6

'अर्थ' फेस्टिवल

Arth Festival

'अर्थ' फेस्टिवल में 30 से ज्‍यादा वक्‍ताओं, 10 से अधिक पैनल डिस्कशन, 10 से ज्‍यादा वर्कशॉप के अलावा कई परफॉर्मेंस देखने-सुनने एवं अलग-अलग तरह के भारतीय व्‍यंजनों का स्‍वाद चखने को मिलेगा.

4/6

विद्वानों का संगम

Scholarly confluence

'अर्थ' फेस्टिवल भारत के विद्वानों, दार्शनिकों, लेखकों, कलाकारों और शिल्‍पकारों की भागीदारी का गवाह बनेगा.

5/6

'अर्थ' (Arth: A Culture Fest)

Arth: A Culture Fest

'अर्थ' (Arth: A Culture Fest) भारत की मिट्टी की महक, परंपरा और विरासत, इतिहास, कला और संस्‍कृति की खुशबू को महसूस करने वाला भारत का पहला बहु-क्षेत्रीय संस्कृति का त्‍योहार है.

6/6

संस्कृति का पर्व

cultural festival

'अर्थ' फेस्टिवल से युवाओं के मन में सभ्‍यता और संस्‍कृति के प्रति जिज्ञासा उत्‍पन्‍न होगी.